scorecardresearch
 

यूपी में जन्माष्टमी के दिन कटी कई जिलों में बिजली, योगी ने एसटीएफ को दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में स्मार्ट मीटर के सॉफ्टवेयर में आई समस्या के चलते बिजली बाधित हो गयी थी. अब योगी सरकार ने इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंप दी है, जिसके बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि जन्माष्टमी के मौके पर लाखों घरों की बिजली कैसे गुल हो गयी थी.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो) यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

  • यूपी में कृष्ण जन्माष्टमी के दिन कट गयी थी कई जिलों की बिजली
  • घटना पर गी आदित्यनाथ ने दिए एसटीएफ को जांच के आदेश

यूपी में कृष्ण जन्माष्टमी के दिन राजधानी लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा और मेरठ समेत कई जिलों में बिजली गुल हो जाने के मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी नाराज हैं. इसी वजह से इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गयी है.

गौरतलब है कि सीएम योगी बिजली आपूर्ति को लेकर अक्सर अपने मीडिया इंटरव्यू और भाषणों में मुखर होकर बोलते रहे हैं. यही वजह है कि वे स्वयं इस घटना को लेकर गंभीर हैं और उन्होंने दोषी पाए गए लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

यह भी पढ़ें: बीजेपी नेता की हत्या पर बोले विधायक- अपराधियों से मिले हैं कुछ अधिकारी

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में स्मार्ट मीटर के सॉफ्टवेयर में आई समस्या के चलते बिजली बाधित हो गयी थी. अब योगी सरकार ने इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंप दी है, जिसके बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि जन्माष्टमी के मौके पर लाखों घरों की बिजली कैसे गुल हो गयी थी.

जानकारी के मुताबिक ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इस घटना की जांच एसटीएफ से कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़ें: योगी के मंत्री मोहसिन रजा का सुझाव- अयोध्या की मस्जिद का नाम मोहम्मद साहब पर हो

गुरुवार को मुख्यमंत्री ने अपने जारी बयान में कहा है कि कल कई क्षेत्रों में बिजली उपभोक्ताओं की बाधित विद्युत आपूर्ति के प्रकरण की जांच एसटीएफ से कराए जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि जांच में अगर कोई दोषी मिले तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए.

बता दें कि बुधवार को कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर अचानक कई जिलों की बिजली चली गई थी. लोगों का आरोप है कि उस दौरान घरों में लगे स्मार्ट मीटर चालू थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें