scorecardresearch
 

श्रीकांत त्यागी के परिजन बोले- हम शांति चाहते हैं, उकसाया तो ठीक नहीं होगा

नोएडा में श्रीकांत त्यागी से जुड़ा विवाद थम नहीं रहा है. श्रीकांत के परिजनों ने कहा कि हम शांति चाहते हैं. लेकिन कुछ लोग हमें उकसा रहे हैं. श्रीकांत ने जो किया, उसकी उसे सजा मिली है. फिर भी लोग सोसायटी में तरह-तरह की हरकतें कर रहे हैं. मेरे घर के सामने आकर और गाना गाकर कैंडल मार्च निकाल रहे हैं.

X
श्रीकांत त्यागी के परिजन और रिश्तेदारों का प्रदर्शन
श्रीकांत त्यागी के परिजन और रिश्तेदारों का प्रदर्शन

यूपी के नोएडा में श्रीकांत त्यागी से जुड़ा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी के निवासियों ने शनिवार को सोसायटी के अंदर शांति के लिए कैंडल मार्च निकाला था. वहीं, रविवार को श्रीकांत के परिवार व रिश्तेदारों ने भी टॉर्च जलाकर सोसायटी के अंदर प्रदर्शन किया है. श्रीकांत के परिजनों का आरोप है कि शनिवार को सोसायटी के लोगों द्वारा किया गया कैंडल मार्च उनके परिवार के खिलाफ हुआ था. इसीलिए आज हम ये प्रदर्शन कर रहे हैं.

दरअसल, पिछले दिनों नोएडा के 93-B स्थित ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी निवासी श्रीकांत त्यागी द्वारा सोसायटी की एक महिला से अभद्रता का मामला सामने आया था. महिला से अभद्रता मामले में श्रीकांत त्यागी जेल में है. उसके बाद भी मामला थमता नहीं दिख रहा है.

शनिवार को पीड़ित महिला के समर्थन में सोसायटी वासियों ने इकट्ठे होकर शांतिपूर्ण कैंडल मार्च निकाला था. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा था कि यह कैंडल मार्च हम इसलिए निकाल रहे हैं ताकि बीते दिनों जो सोसायटी में हुआ वो दोबारा ना हो और शांति बनी रहे.

वहीं, आज जेल में बंद श्रीकांत के परिवार और रिश्तेदारों ने सोसायटी में इकट्ठे होकर मोबाइल की रोशनी जलाकर प्रदर्शन किया है. कहा कि सोसायटी के लोग हमें उकसा रहे हैं. ये चाहते हैं कि हम कोई गलती करें, जिससे इन्हें फिर से मौका मिले. श्रीकांत ने जो गलती की, उसकी सजा वह काट रहा है. अब ये लोग हमारे खिलाफ भी अभियान चला रहे हैं.

श्रीकांत की पत्नी अनु त्यागी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मेरा पति जेल में है, जो उन्होंने किया उसकी सजा भुगत रहे हैं. फिर ये लोग सोसायटी में घूम-घूमकर, मेरे घर के सामने आकर और गाना गाकर कैंडल मार्च निकाल रहे हैं. ये लोग क्या जताना चाहते हैं. श्रीकांत की बुआ सुनीता त्यागी ने कहा कि अब जो सोसायटी में हो रहा है, वह अच्छा नहीं है. ये लोग हमें अकेला और कमजोर ना समझें. अगर उकसाया तो ठीक नहीं होगा. हम शांति चाहते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें