scorecardresearch
 

राम मंदिर के चंदे पर जालसाजों की नजर, फर्जीवाड़े से बचने के लिए LOGO पेटेंट कराएगा ट्रस्ट

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट लोगों की सुविधा के लिए अपने बैंक खाते से जुड़ी जानकारी एक चिट्ठी के जरिए उपलब्ध करा रहा है. फर्जीवाड़े से बचने के लिए ट्रस्ट अपने LOGO को पेटेंट कराने की प्रक्रिया कर रहा है, जिससे लोगो का गलत और गैरकानूनी इस्तेमाल न किया जा सके.

प्रतीकात्मक तस्वीर (पीटीआई) प्रतीकात्मक तस्वीर (पीटीआई)

  • राम मंदिर ट्रस्ट पेटेंट कराएगा अपना LOGO
  • LOGO का इस्तेमाल कर फर्जीवाड़ा कर रहे लोग
  • दान के बाद धन्यवाद पत्र भेज रहा ट्रस्ट

राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद से ही दानदाताओं की संख्या बढ़ती जा रही है. श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण के लिए मिलने वाले चंदे को लेकर जालसाजी की खबरों के बीच लोगों को सचेत करने का भी काम शुरू कर दिया है.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट लोगों की सुविधा के लिए अपने बैंक खाते से जुड़ी जानकारी एक चिट्ठी के जरिए उपलब्ध करा रहा है. फर्जीवाड़े से बचने के लिए ट्रस्ट अपने LOGO को पेटेंट कराने की प्रक्रिया कर रहा है, जिससे कि लोगो का गलत और गैरकानूनी इस्तेमाल न किया जा सके.

यही नहीं, दान की वैधता सुनिश्चित करने के लिए जिन लोगों का दान ट्रस्ट के खाते में आ रहा है, उन्हें धन्यवाद पत्र के जरिए सूचित भी किया जा रहा है. ट्रस्ट ने इसके लिए एक पत्र भी छपवाया है, जिसमें खाते से संबंधित आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराई गई है.

पढ़ें- राम मंदिर निर्माण के लिए देना चाहते हैं दान? ट्रस्ट ने जारी कीं अकाउंट डिटेल्स

बता दें दरअसल श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के नाम पर फर्जी अकाउंट के मामले में एक एफआईआर दर्ज की जा चुकी है, जिसकी जांच चल रही है. इससे पहले ट्रस्ट के नाम पर फर्जी वेबसाइट बनाकर चंदा एकत्र करने की जानकारी सामने आ चुकी है. ट्रस्ट के पदाधिकारी इन सब फर्जीवाड़ों से बचने के लिए सारे इंतजाम कर रहे हैं.

बता दें कि पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में रामलला के दर्शन किए थे और राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था. अब राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है. ट्रस्ट की ओर से 12 अगस्त को अकाउंट नंबर और अन्य जानकारी साझा की गई है, जिससे लोग दान कर सकेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें