scorecardresearch
 

'सर तन से जुदा'...नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर गाजियाबाद में वकील के घर के बाहर लगे पोस्टर

मामला गाजियाबाद के थाना ट्रॉनिका सिटी इलाके का है. यहां आवास विकास कॉलोनी में रहने वाले वकील सतेंद्र भाटी के घर के बाहर कुछ असामाजिक तत्वों ने धमकी भरे पोस्टर लगा दिए. इन पोस्टर में लिखा था, 'सर तन से जुदा'. इतना ही नहीं इन पोस्टर के साथ गाली गलौज से भरा पत्र भी चस्पा किया गया है. वकील ने पुलिस से इसकी शिकायत की है. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

X
वकील सतेंद्र भाटी को मिली जान से मारने की धमकी वकील सतेंद्र भाटी को मिली जान से मारने की धमकी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गाजियाबाद में वकील को मिली जान से मारने की धमकी
  • कन्हैया लाल की हत्या के विरोध में निकाला था मार्च

गाजियाबाद में नूपुर शर्मा का समर्थन करने और कन्हैया लाल की हत्या के विरोध में प्रदर्शन करने पर एक वकील को जान से मारने की धमकी मिली है. इतना ही नहीं वकील के घर के बाहर पोस्टर लगाए गए हैं, इनमें लिखा है 'सर तन से जुदा'. उधर, वकील ने पुलिस से इसकी शिकायत की है. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

मामला गाजियाबाद के थाना ट्रॉनिका सिटी इलाके का है. यहां आवास विकास कॉलोनी में रहने वाले वकील सतेंद्र भाटी के घर के बाहर कुछ असामाजिक तत्वों ने धमकी भरे पोस्टर लगा दिए. इन पोस्टर में लिखा था, 'सर तन से जुदा'. इतना ही नहीं इन पोस्टर के साथ गाली गलौज से भरा पत्र भी चस्पा किया गया है. इस पत्र में नूपुर शर्मा और कन्हैया लाल के समर्थन करने पर वकील को अंजाम भुगतने की धमकी दी गई है. 

दरअसल सत्येंद्र भाटी ने अभी कुछ समय पहले कन्हैया लाल हत्याकांड के विरोध में कैंडल मार्च निकाला था . माना जा रहा है कि इसके बाद से सतेंद्र भाटी असामाजिक तत्वों के निशाने पर आ गए और उन्हें इस तरह की धमकी दी गई है. इस मामले में सतेंद्र भाटी ने टोनिका सिटी थाने में शिकायत भी दी. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. साथ ही वकील को सुरक्षा भी दी गई है. इससे पहले लोनी में एक व्यापारी को ऐसी ही धमकी भरा पत्र स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजा गया था, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. 

क्या है 'सर तन से जुदा'? 

दरअसल, नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवादित टिप्पणी की थी. इसके बाद काफी विरोध प्रदर्शन हुआ था. नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकियां भी दी गईं. इसके बाद एक दूसरा वर्ग नूपुर शर्मा के समर्थन में भी आ गया. इसके बाद धमकियों का दौर शुरू हुआ. अजमेर दरगाह के मौलवी गौहर चिश्ती ने नूपुर शर्मा के लिए 'सर तन से जुदा' जैसा विवादित बयान दिया था. हालांकि, इसके बाद पुलिस ने मौलवी को गिरफ्तार कर लिया. लेकिन इसके बाद नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले कई लोगों को इस तरह की 'सर तन से जुदा' करने की धमकी दी गई. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें