scorecardresearch
 

यूपी में हाथ से उखड़ने वाली सड़क बनाने वालों पर एक्शन, खर्च हुए थे 3 करोड़ 80 लाख

यूपी के PWD मंत्री जितिन प्रसाद ने पीलीभीत की सड़क को हाथ से उखाड़ने का वीडियो वायरल होने के बाद सख्त एक्शन लिया है. PWD और  CDO की संयुक्त जांच में पाया गया कि सड़क बनाने में घटिया क्वालिटी की सामग्री की इस्तेमाल किया गया है. इस लापरवाही के चलते AE शैलेंद्र चौधरी सहित इस सड़क बनाने से जुड़े अधिकारियों पर कार्रवाई करने के लिए शासन को जिलाधिकारी की तरफ से लिखकर भेजा गया है. 

X
करोड़ों की लागत से बनी सड़क हाथ से उखड़ने लगी (फोटो- आजतक)
करोड़ों की लागत से बनी सड़क हाथ से उखड़ने लगी (फोटो- आजतक)

यूपी के पीलीभीत जिले में कुछ दिन पहले भ्रष्टाचार की पोल खोलने वाला एक वीडियो वायरल हुआ था. सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में एक युवक सड़क निर्माण में बरती गई लापरवाही को उजागर किया. इस रोड की गुणवत्ता इतनी खराब थी कि युवक उसे अपने हाथों से उखाड़ देता है.यह सड़क जनपद के पूरनपुर से भगवंतापुर गांव के बीच प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत 3 करोड़ 80 लाख रुपए की लागत बनी. वीडियो वायलर होने के बाद सांसद वरुण गांधी ने भी ट्वीट कर कई सवाल खड़े किए. मंत्री जितिन प्रसाद इस मामले में जिलाधिकारी को जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं.  

जिलाधिकारी ने कहा इस फार्म को ब्लैक लिस्ट करने के लिए कहा है. साथ ही ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग की तरफ से सड़क बनाने वाली फर्म के खिलाफ  FIR दर्ज कराई गई है. स्थानीय लोगों का कहना है कि इस सड़क को बनवाने में लगभग 3 करोड़ 80 लाख रुपये से ज्यादा की लागत आई. स्थानीय लोगों का कहना है सड़क निर्माण में जो सामग्री का इस्तेमाल किया गया है वो काफी घटिया है.

बाइक चलाने के दौरान सड़क उखड़ जाती है. जिसकी वजह से हादसे हो जाते हैं. इस मामले पर जितिन प्रसाद ने भी संज्ञान लेते हुए कहा यह सड़क उनके विभाग की नहीं है, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग द्वारा बनाई गई है. जीरो टॉलरेंस पॉलिसी के तहत सख्त एक्शन लिया जाएगा. 

जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने इसकी जांच PWD के अधिशासी अभियंता उदय नारायण को दी है. PWD और  CDO की संयुक्त जांच में पाया गया कि सड़क बनाने में घटिया क्वालिटी की सामग्री की इस्तेमाल किया गया है. इस लापरवाही के चलते AE शैलेंद्र चौधरी सहित इस सड़क से जुड़े अधिकारियों पर कार्रवाई करने के लिए शासन को जिलाधिकारी की तरफ से लिखकर भेजा गया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें