scorecardresearch
 

PM मोदी के बर्थ डे पर प्लेन से वाराणसी आए 40 मोची, बोले- पूरा हुआ ख्वाब

दिल्ली के 40 मोचियों के लिए आज का दिन काफी खास रहा. पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर 40 मोचियों ने हवाई जहाज की यात्रा की और वाराणसी पहुंचे. यहां पहुंचकर उन्होंने काशी विश्वनाथ के दर्शन किए. मोचियों का यह दल अभी दो दिन काशी में रहेगा. यहां पहुंचकर मोचियों ने पूरे हुए ख्वाब को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी.

X
40 मोची फ्लाइट से दिल्ली से वाराणसी पहुंचे
40 मोची फ्लाइट से दिल्ली से वाराणसी पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 72वें जन्मदिन पर 40 मोची फ्लाइट से दिल्ली से वाराणसी पहुंचे. मोचियों की यह यात्रा पीएम मोदी के उस सपने से भी ताल्लुक रखती है जिसमें उन्होंने कई बार कहा है कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई जहाज की यात्रा कर सकेगा.

दरअसल, पूर्वी दिल्ली के पूर्व मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल की पहल पर शाहदरा के शालीमार पार्क में सड़क किनारे काम करने वाले 40 मोचियों को दिल्ली से हवाई जहाज से वाराणसी लाया गया. साथ ही काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजा भी कराया गया. अगले दो दिन तक 40 मोचियों का दल वाराणसी में रहेगा. इस दौरान संत रविदास की जन्मस्थली के साथ ही अन्य मंदिरों में जाकर दर्शन-पूजन भी करेगा.

वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 का नजारा पीएम मोदी के जन्मदिन के अवसर पर देखते ही बन रहा था. दिल्ली के 40 मोची, जिन्होंने शायद सपने में भी नहीं सोचा था कि वे हवाई सफर कर सकेंगे और पीएम मोदी के जन्मदिन पर काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन करने का मौका मिलेगा.

लेकिन पूर्वी दिल्ली के पूर्व मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल ने 40 मोचियों का यह सपना पूरा कर दिया. आज पूरा दल दो दिनों के लिए काशी दर्शन पूजन के साथ घूमने पहुंचा. काशी आते ही सभी ने सबसे पहले काशी विश्वनाथ के दर्शन किए.

पूर्वी दिल्ली के पूर्व मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल ने बताया यूपी के पूर्व डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान निर्णय लिया गया था कि समाज के सबसे निचले व्यक्ति तक को मुख्य धारा से जोड़ना है. इसी कड़ी में आज पीएम मोदी के जन्मदिवस को चुनकर 40 मोचियों को हवाई जहाज की यात्रा कराकर दिल्ली से वाराणसी लाया गया है. वहीं, मोचियों की खुशी का ठिकाना नहीं था.

उनका कहना था कि बमुश्किल वे रोज 200-250 रुपये कमा पाते हैं. उनकी कई पीढ़ियों ने भी कभी हवाई जहाज का सफर नहीं किया था. लेकिन आज श्याम सुंदर अग्रवाल और पीएम मोदी की वजह ऐसा हो पाया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें