scorecardresearch
 

नोएडा के थानों में नहीं है महिला शौचालय, रियलिटी चेक में बड़े खुलासे

थानों में महिला शौचालय की खराब स्थिति को लेकर उत्तर प्रदेश चौथे नंबर परहै. जबकि बिहार पहले नंबर पर. लिहाजा आज तक की टीम ने दिल्ली से सटे नोएडा के थानों में महिला शौचालय की सच्चाई और हकीकत जानने के लिए रियलिटी चेक किया.

थानों में महिला शौचालय की खराब स्तिथि थानों में महिला शौचालय की खराब स्तिथि

  • नोएडा के फेज-2, सेक्टर-39, सेक्टर 24 थानों का रियलिटी चेक
  • थानों में नहीं हैं कोई महिला शौचालय, महिला पुलिसकर्मी कर रहीं गुजारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में शौचालय क्रांति चला रहे हैं . खासकर शौचालय को लेकर महिलाओं की जो समस्या है उसका जिक्र उन्होंने अपने भाषणों में बार-बार किया है. देश के तमाम राज्यों में सड़क चौराहों पर बेहतरीन तरीके से टॉयलेट बनवाए गए हैं, जिसका फायदा आम लोगों को हो भी रहा है.

दिल्ली से सटे नोएडा में जहां एक तरफ मुख्य चौराहों पर लाखों की लागत से टॉयलेट बनाए गए हैं तो वहीं नोएडा के थानों में महिला शौचालय उपलब्ध नहीं हैं. हाल ही में स्टेट्स ऑफ पुलिसिंग इन इंडिया की रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ था कि तकरीबन 20 प्रतिशत महिला पुलिसकर्मियों ने थानों में महिला शौचालय न होने की बात कही थी.

वहीं थानों में महिला शौचालय की खराब स्थिति को लेकर उत्तर प्रदेश चौथे नंबर पर है. जबकि बिहार पहले नंबर पर. लिहाजा आज तक की टीम ने दिल्ली से सटे नोएडा के थानों में महिला शौचालय की सच्चाई और हकीकत जानने के लिए रियलिटी चेक किया.

नोएडा के फेज-2 थाने के हालात

आजतक की टीम पड़ताल में सबसे पहले नोएडा के फेज-2 थाने में पहुंची. थाने में तैनात महिला कॉन्स्टेबल ने बताया कि थाने में अलग से महिलाओं के लिए कोई शौचालय नहीं है. यही नहीं महिला कॉन्स्टेबल ने बताया कि उन लोगों ने शौचालय न होने और उसकी खराब स्थिति को लेकर एसएसपी को लिखित शिकायत भी की गई.

police-station-toliets_100219104656.jpg

महिला कॉन्स्टेबल ने बताया कि नोएडा के इस फेज-2 थाने में महिलाओं के लिए अलग से कोई शौचालय नहीं है. दरअसल इस थाने के पीछे एक महिला कॉन्स्टेबल का घर था. उसी के घर में तमाम महिलाएं शौचालय के लिए जाती थीं.

तभी आजतक की पड़ताल के बाद तैनात दारोगा ने कहा कि थाने के गेट पर बने स्वागत कक्ष में महिला शौचालय है. लेकिन उसकी साफ-सफाई होनी है. हम साफ करवा देंगे. दरअसल नोएडा के हर थाने में एंट्री गेट पर आम शिकायतकर्ताओं के लिए एक स्वागत कक्ष बनाया गया है.

नोएडा के सेक्टर-39 में तहकीकात

नोएडा के फेज-2 थाने के बाद आजतक टीम नोएडा के सेक्टर-39 थाने पहुंची. यह नोएडा के पॉश और सबसे बड़े थानों में से एक है. वहां की महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि नोएडा के इस सेक्टर 39 थाने में 3-4 पुरुषों के लिए तो शौचालय बने हुए हैं. लेकिन एक भी महिला शौचालय नहीं है.

सभी थानों की तरह स्वागत कक्ष में एक छोटा टॉयलेट बना हुआ है, जिसमें महिलाओं की टेंपरेरी व्यवस्था का दावा किया जा रहा है. लेकिन हकीकत ये है कि ये सार्वजनिक टॉयलेट है और हालत इतनी खराब कि जानवर भी जाना पसंद न करे.

सेक्टर 24 थाना के हालात

नोएडा सेक्टर 39 थाने के बाद आजतक की टीम नोएडा के सेक्टर 24 थाना पहुंची. इस थाने के आस-पास बड़ी-बड़ी कंपनियों का दफ्तर हैं और ये सेक्टर 24 थाना बीचो-बीच बना है. वहां की महिला कान्स्टेबल ने खुलासा किया कि थाने से ही सटा उनका सरकारी घर है लिहाजा वो वहां चली जाती हैं. लेकिन स्वागत कक्ष की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि वे सभी इसी में एडजस्ट करती हैं लेकिन लेडिज के लिए कोई टॉयलेट नहीं है.

police-station_100219104753.jpg

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें