scorecardresearch
 

'मुलायम सिंह मेरे सपने में आए और बोले..', इस पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक का दावा

यूपी के मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव के प्रदेश ही नहीं देश भर में चाहने वाले हैं. ये बात उनके निधन पर देखने को भी मिली. पूरे देश से लोग उनके अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंचे. अब एक शख्स ने दावा किया है कि मुलायम सिंह उनके सपने में आते हैं. ये कोई सामान्य समर्थक या प्रशंसक नहीं बल्कि एक राजनीतिक दल के राष्ट्रीय संयोजक हैं.

X
मुलायम सिंह यादव, फाइल फोटो
मुलायम सिंह यादव, फाइल फोटो

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और 'धरतीपुत्र' के नाम से जाने जाने वाले मुलायम सिंह यादव के देहांत के बाद एक मामला सुर्खियों में है. ये जानकर भले ही आपको हैरानी हो लेकिन यूपी के वाराणसी में एक शख्स का दावा है कि मुलायम सिंह उनके सपने में आते हैं. अहम बात ये है कि यह शख्स कोई और नहीं बल्कि राष्ट्रीय समता पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक शशि प्रताप सिंह हैं. 

गौरतलब है कि शशि प्रताप सिंह कभी पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर के बेहद करीबी हुआ करते थे. लेकिन बगावत करके इन्होंने राष्ट्रीय समता पार्टी के नाम अपनी पार्टी बना ली है. सपने आने वाली बात शशि प्रताप ने मुलायम सिंह यादव की श्रद्धांजलि सभा में कही. 

'नेताजी जी भगवान की तरह दिखाई देते हैं'
शशि प्रताप सिंह ने बताया, "मैं नेताजी मुलायम सिंह यादव को अपना आदर्श मानता हूं. उनको सुनने के लिए सभाओं में जाता रहता था. उनकी प्रेरणा से मैं राजनीतिक जीवन में आगे बढ़ा. निधन के बाद से वह मेरे सपने में प्रतिदिन आते हैं और मुझसे कहते हैं कि तुम अच्छा काम कर रहे हो...यूं ही आगे बढ़ते रहो" शशि प्रताप सिंह का दावा है कि सपने में नेताजी जी भगवान की तरह दिखाई देते हैं. 

'सभी के दिलों में जीवित हैं मुलायम सिंह'
शशि प्रताप ने कहा कि वो मुलायम सिंह को देखने मेदांता अस्पताल भी गए थे. इसके बाद सैफई पहुंचकर शांति पाठ में भी मैंने हिस्सा लिया था. नेताजी को मैं श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. उनको आदर्श मानकर आजीवन इस रास्ते पर चलूंगा. मुलायम सिंह ने लाखों किलोमीटर साइकिल चलाकर ना केवल पार्टी को बल्कि दलितों, शोषित और वंचितो को आगे बढ़ाया. भले ही नेताजी अब हम लोग के बीच में नहीं है, लेकिन सभी के दिलों में जीवित हैं.

10 अक्टूबर को हुआ था निधन 
गौरतलब है कि सपा संरक्षण मुलायम सिंह यादव का 10 अक्टूबर को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया था. 11 अक्टूबर को उनका अंतिम संस्कार गांव सैफई में किया गया था. उनके निधन पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत देशभर के नेताओं ने श्रद्धांजलि दी थी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें