scorecardresearch
 

यूपी के इस शहर में एक साथ होंगी तीन हजार शादियां, सीएम योगी खुद देंगे आशीर्वाद

गाजियाबाद में सामूहिक सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इसमें करीब 3 हजार जोड़े शादी के बंधन में बंधेंगे. वैवाहिक कार्यक्रम में 1863 हिंदू और 1172 मुस्लिम जोड़े शामिल होंगे. मुस्लिम जोड़ों के लिए अलग से पंडाल बनाया गया है. हरिद्वार से 80 पंडितों के साथ मौलवी और सिख धर्मगुरुओं ग्रन्थी और बौद्ध धर्म गुरुओं को विवाह कराने के लिए आमंत्रित किया गया है. 

X
(प्रतीकात्मक फोटो)
(प्रतीकात्मक फोटो)

गाजियाबाद में गुरुवार को एक विशाल सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. नेहरू पार्क में गाजियाबाद, हापुड़ और बुलंदशहर के 3 हजार जोड़े एक साथ शादी के बंधन में बंधेंगे. इस समारोह में 35 हजार लोगों के खाने की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा हर जोड़े को 75 हजार रुपये दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वर्चुअली शामिल होकर नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद देंगे. 

सामूहिक विवाह कार्यक्रम के वही लोग शामिल हो सकेगें जिनका पंजीकरण श्रम विभाग में 1 साल पहले किया था. इस योजना के तहत 75,000 रुपये दिए जाते हैं. इनमें से 10,000 रुपये पहले कपड़े खरीदने और 65,000 रुपये शादी के बाद दूल्हा और दुल्हन के खाते में भेजे जाते हैं. इस सामूहिक विवाह के दौरान करीब 35 हजार लोगों के खाने के साथ नाश्ते का भी इंतजाम है. खाने में पूरी, सब्जी, छोले, नान और पनीर के अलावा मिठाई भी रहेगी. नाश्ते में ब्रेड पकौड़ा और चाय दी जाएगी.  इसका पूरा खर्चा उत्तर प्रदेश सरकार उठाएगी. 

इस विशाल सामूहिक विवाह कार्यक्रम में गाजियाबाद के 1710, बुलंदशहर के 794 और हापुड़ के 568 जोड़े शामिल होंगे. सुरक्षा की दृष्टि से कड़े बंदोबस्त किए गए हैं.  करीब 5 फायर ब्रिगेड की गाड़िया और भारी पुलिस बंदोबस्त रखा गया है. इसमें 182 विभागीय और प्रशासनिक अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया गया है.

वैवाहिक कार्यक्रम में 1863 हिंदू और 1172 मुस्लिम आदि जोड़े शामिल होंगे. मुस्लिम जोड़ों के लिए अलग से पंडाल बनाया गया है हरिद्वार से 80 पंडितों के साथ गाजियाबाद से मौलवी और सिख धर्मगुरुओं ग्रन्थी और बौद्ध धर्म गुरुओं को भी यहां विवाह कराने के लिए आमंत्रित किया गया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें