scorecardresearch
 

लॉयन सफारी की शान और 9 शेरों के 'पिता' की बिगड़ी तबीयत, कैंसर की आशंका

Kanpur: कानपुर जू के डॉक्टरों की निगरानी में अभी मनन का इलाज चल रहा है. मनन और जेसिका की जोड़ी ने 8 बच्चों को जन्म दिया है, रिपोर्ट आने के बाद ही पुष्टि हो पाएगी कि उसे कैंसर है या फिर कोई अन्य बीमारी.

X
लॉयन सफारी में शेर की हालत बिगड़ी. (फाइल फोटो) लॉयन सफारी में शेर की हालत बिगड़ी. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इटावा लॉयन सफारी में मनन बीमार
  • मनन के इलाज में जुटे डॉक्टर, कैंसर होने की आशंका

इटावा लॉयन सफारी उत्तर प्रदेश का एक बड़ा पर्यटन स्थल बन चुका है. यहां देश-विदेश से लोग शेरों को देखने के लिए आते हैं. इटावा सफारी पार्क में अब तक कुल 18 शेर है जिनमें 8 मेल और 10 फीमेल हैं. इटावा सफारी पार्क की शान कहे जाने वाले "मनन" नाम का शेर जिसकी उम्र 14 वर्ष हो चुकी है, आजकल गंभीर बीमारी से जूझ रहा है.

मनन के कूल्हे (हिप्स) में दो-तीन साल पहले एक गांठ हो गई थी, जो कि अब बड़ी हो चुकी है और वो घाव में तब्दील हो चुका है. मनन बीमार होने के कारण भोजन भी नहीं कर पा रहा है और चलने फिरने में भी असमर्थ  होने लगा है.

मनन नाम के इस शेर का जन्म जन्म 18 फरवरी 2008 का हुआ था.  उसे 11 अप्रैल 2014 को गुजरात के जूनागढ़ सक्करबाग जूलॉजिकल पार्क से इटावा सफारी पार्क में लाया गया था. मनन और जेसिका नामक शेरनी की जोड़ी ने सफारी प्रजनन केंद्र में बड़ा योगदान दिया है.

मनन जेसिका से 8 शेरों का जन्म हो चुका है और मनन जेनिफर से 'केसरी' नामक शेर का जन्म हुआ था, इस प्रकार मनन 9 शेरों का पिता बन चुका है. गंभीर बीमारी से जूझ रहे मनन के घाव का सैंपल इंडियन वेटरनरी रिसर्च इंस्टिट्यूट में भेजा गया है. कानपुर जू के डॉक्टरों की देखरेख में इसका इलाज चल रहा है. उसे कैंसर होने की आशंका जताई जा रही है. हालांकि, रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पुष्टि हो पाएगी.

डिप्टी डायरेक्टर एके सिंह ने बताया कि हमारे यहां शेर ने 9 बच्चों के जन्म में बड़ा योगदान दिया है और उसकी बीमारी से सफारी प्रशासन चिंताग्रस्त है. आईवीआरआई की रिपोर्ट के बाद ही सही जानकारी प्राप्त हो पाएगी. हालांकि उसका इलाज डॉक्टरों के द्वारा सुचारू रूप से की जा रही है.

डिप्टी डायरेक्टर ए के सिंह ने बताया कि "मनन" देखने से ही अस्वस्थ दिखाई दे रहा है और भोजन की खुराक भी बहुत कम हो गई. चलने फिरने में भी उसे बहुत दिक्कत हो रही है. साल 2019 में डॉक्टर का एक पैनल आया था जिसने उसकी गांठ की चेकिंग की थी. कोविड के कारण उसकी सर्जरी नहीं हो पाई थी, अब गांठ बड़ी हो गई है. 

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
; ;