scorecardresearch
 

Omicron पर महाराष्ट्र, यूपी से झारखंड तक मंथन, सरकारों ने लिए कई फैसले

कोरोना की दूसरी लहर में महाराष्ट्र देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में शामिल था. ऐसे में इस पर उद्धव सरकार वहां कोरोना के इस नए और खतरनाक वेरिएंट को लेकर पहले से ही सचेत है और जरूरी तैयारियों में जुट गई है.

X
कोरोना पर राज्य सरकारें सतर्क कोरोना पर राज्य सरकारें सतर्क
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना के नए वेरिएंट से बचाव में जुटी राज्य सरकारें
  • महाराष्ट्र, यूपी और झारखंड की सरकारों ने लिए कई फैसले

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट Omicron के खतरे को लेकर पूरी दुनिया चिंतित है. ऐसे में केंद्र सरकार इसके संक्रमण को रोकने में कोई कोताही नहीं बरतना चाहती. यही वजह है कि मोदी सरकार ने देश भर में इसके लिए अलर्ट जारी कर दिया और देश के ज्यादातर राज्यों में इसकी गंभीरता को लेकर सरकारों ने मीटिंग कर तैयारियों पर जोर दिया.

कोरोना की दूसरी लहर में महाराष्ट्र देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में शामिल था. ऐसे में इस पर उद्धव सरकार वहां कोरोना के इस नए और खतरनाक वेरिएंट को लेकर पहले से ही सचेत है और जरूरी तैयारियों में जुट गई है.

महाराष्ट्र: सीएम ठाकरे ने सभी जिला कलेक्टरों के साथ की बैठक 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज राज्य के सभी संभागीय आयुक्तों और जिला कलेक्टरों के साथ कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक की और कई अहम निर्देश दिए.

महाराष्ट्र सरकार ने सभी जिला प्रशासन को केंद्र के निर्देश का इंतजार किए बिना तत्काल काम शुरू करने के निर्देश दिए.

सीएम ने मीटिंग के दौरान कहा कि "यदि आप लॉकडाउन नहीं चाहते हैं, तो आपको प्रतिबंधों का पालन करना होगा." इसके अलावा हवाईअड्डे पर पहुंचने वाले सभी यात्रियों पर भी पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. सीएम ने बीएमसी अधिकारियों के साथ भी बैठक की जिसमें मुंबई पुलिस के ज्वाइंट सीपी भी शामिल थे.

यूपी में विदेशी यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य

वहीं देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी कोरोना के इस नए वेरिएंट Omicron के संकमण को रोकने के लिए सीएम योगी ने अहम बैठक की. राज्य सरकार ने विदेशी यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट को अनिवार्य कर दिया है. इसके अलावा प्रदेश में  विदेशों से आने वालों की पड़ताल करने का भी निर्देश दिया गया है.

उत्तर प्रदेश सरकार के अलर्ट जारी करने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने एयरपोर्ट पर सख्ती बढ़ा दी है. एयरपोर्ट पर पहुंचने वाले यात्रियों की मुफ्त में आरटीपीसीआर जांच की जाएगी.

स्‍टेट सर्विलांस अधिकारी विकास इंदु अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश के 75 जिलों के डीएसओ, सीएमओ, डीआईओ और विशेषज्ञ संग एक अहम बैठक की गई है. प्रदेश सरकार की ओर से इस बैठक में अधिकारियों को कई दिशा निर्देश जारी किए गए हैं.

उन्‍होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने डेली मॉनीटरिंग को बढ़ाने के आदेश दिए हैं. विदेश से लौटे यात्रियों में 14 दिन के भीतर लक्षण दिखने पर उनकी जांच की जाएगी.

वहीं झारखंड में हेमंत सरकार के मंत्री ने भी इस नए वेरिएंड के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों को लेकर बैठक की. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाई जाए. उन्होंने कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट को देश में आने से रोकना होगा.

झारखंड में फ्लाइट से आने वालों की विशेष जांच

मंत्री ने बताया कि राज्य में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है. त्योहारों को लेकर रफ्तार में थोड़ी कमी आई थी लेकिन अब तेजी से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा हैं. कोरोना रिकवरी दर भी राज्य में 99% के करीब हैं लेकिन अभी भी  सतर्कता बरतने की आवश्यकता हैं.

उन्होंने बताया कि विभाग को निर्देश दिया गया हैं कि ट्रेनों और घरेलू उड़ानों से आने वाले लोगों की जांच के लिए विशेष तैयारी की जाए. राज्य सरकार जल्द ही बड़े पैमाने पर इस स्थिति को लेकर समीक्षा करेगी.

ये भी पढ़ें:


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें