scorecardresearch
 

Lucknow: दो सुसाइड नोट, पांच नाम... पत्नी-बेटी के साथ JE की आत्महत्या की गुत्थी उलझी!

लखनऊ में नलकूप जेई शैलेंद्र कुमार ने पत्नी गीता और बेटी प्राची के साथ आत्महत्या कर ली थी. इस मामले की जांच में पुलिस ने पाया कि तीनों को खुदकुशी के लिए उकसाया गया था. पुलिस को दो सुसाइड नोट मिला है. इसके आधार पर पुलिस ने चार आरोपियों को हिरासत में लिया है और आगे की तफ्तीश जारी है. 

X
पत्नी-बेटी के साथ जेई ने दे दी थी जान
पत्नी-बेटी के साथ जेई ने दे दी थी जान

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नलकूप जेई शैलेंद्र कुमार ने पत्नी गीता और बेटी प्राची के साथ आत्महत्या कर ली. इस मामले की जांच में पुलिस ने पाया कि तीनों को खुदकुशी के लिए उकसाया गया था. पुलिस ने जेई शैलेंद्र कुमार के सुसाइड नोट के आधार पर चार लोगों को हिरासत में लिया है और आगे की तफ्तीश जारी है. 

नलकूप जेई शैलेंद्र कुमार ने बुधवार को अपनी पत्नी और बेटी के साथ जहर खाकर जान दे दी थी. खुद जहर खाने के मामले में पुलिस ने जांच में पाया है कि परिवार को खुदकुशी करने के लिए उकसाया गया था और प्रताड़ित किया गया था. पुलिस ने इस मामले में सुसाइड नोट से चार लोगों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

पुलिस ने जिन 4 लोगों को हिरासत में लिया है, उसमें शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव, मोबीन खान, नरेंद्र प्रताप सिंह और संतोष कुमार शुक्ला है. पुलिस को एक और सुसाइड नोट मिला है. इस सुसाइड नोट में शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव पर 4 साल पहले 65 लाख रुपये लोन करवाने के नाम पर लेने का आरोप है, शैलेंद्र ने आज तक न लोन करवाया और न ही पैसे वापस किए.

सुसाइड नोट में मोबीन खान पर आरोप है कि 3 साल पहले प्लॉट का एग्रीमेंट कराया था, 10 लाख रुपए दे दिए थे और 20 परसेंट ब्याज पर हर महीने लेते थे, जब हम ब्याज नहीं दे पाए तो प्रताड़ित करने लगे. नरेंद्र पर आरोप है कि 10 हजार रुपये प्रति स्क्वायर फीट पर प्लॉट एग्रीमेंट करवाया था, 10 लाख रुपए देने के बाद प्लॉट भी नहीं दिया और ना ही रजिस्ट्री करवाया.

संतोष कुमार शुक्ला पर आरोप है यह घर पर आकर नरेंद्र प्रताप सिंह के साथ गाली गलौज करते थे पूरे परिवार को मारने की धमकी देते थे. इसके अलावा पुलिस के हाथ एक और सुसाइड नोट लगा है, जिसमें किसी दूर के रिश्तेदार का नाम है. पुलिस दोनों सुसाइड नोट की हैंडराइटिंग की फॉरेंसिक जांच करवा रही है.

एडीसीबी नॉर्थ जोन का कासिम आब्दी ने कहा कि सभी आरोपियों को हिरासत में लिया गया है, उनकी सीडीआर रिपोर्ट निकाली जा रही है और उनसे बातचीत की जा रही है, रुपए के लेन-देन का मामला था, यह साफ हो गया है कि लेनदेन में मृतक को खुदकुशी करने के लिए प्रेरित किया गया था, मुकदमा दर्ज किया गया है, अब आगे कार्रवाई की जाएगी.

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें