scorecardresearch
 

UP: बिना ऑफिस आए 6 महीने तक वेतन लेती रही डिप्टी CMO, डिप्टी सीएम ने दिए निलंबन के आदेश

यूपी के अमरोहा के अस्पताल में तैनात डिप्टी सीएमओ बिना ऑफिस आए छह महीने तक वेतन लेती रही. जांच की गई तो सामने आया कि डिप्टी सीएमओ रजिस्टर में फर्जी हस्ताक्षर कर उपस्थिति दर्शाती रही. डिप्टी सीएम ने लापरवाह अफसर को निलंबित कर दिया है.

X
डिप्टी CM ब्रजेश पाठक. (Photo: File)
डिप्टी CM ब्रजेश पाठक. (Photo: File)

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले के अस्पताल में तैनात डिप्टी सीएमओ छह महीने तक बिना ऑफिस आए सैलरी लेती रहीं. जांच में सामने आया है कि डिप्टी सीएमओ रजिस्टर में फर्जी तरीके से हस्ताक्षर करके खुद की उपस्थिति दर्शाती रहीं. जब पड़ताल में इस मामले का खुलासा हुआ तो यूपी के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने लापरवाह अफसर पर सख्त कार्रवाई की. 

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने अमरोहा जिले में तैनात डिप्टी CMO डॉ. इंदु बाला शर्मा को निलंबित करने के आदेश दिए हैं. आरोप है कि डिप्टी सीएमओ ने 6 महीने तक बिना कार्यालय आए वेतन लिया है. उपस्थिति रजिस्टर में फर्जी हस्ताक्षर बना वेतन लेती रहीं.

इस मामले में तत्कालीन सीएमओ संजय अग्रवाल पर भी विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं. इसके अलावा लगातार वेतन बनाने वाले लिपिक संतोष कुमार पर भी विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं. इस मामले में संलिप्त कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज करने को कहा गया है.

कार्रवाई के बाद महकमे में मचा हड़कंप

इस कार्रवाई के बाद से महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. उप मुख्यमंत्री की ओर से साफ कह दिया गया है कि लापरवाह अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए, किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा. डिप्टी सीएमओ के ऑफिस न आने के बावजूद रजिस्टर में उनकी उपस्थिति कैसै दर्ज होती रही, इस बात की जांच की जा रही है. अगर इस जांच में अन्य अधिकारियों का नाम सामने आया तो उन पर एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें