scorecardresearch
 

आजमगढ़ से पकड़े गए ISIS संदिग्ध का ओवैसी की पार्टी से लिंक मिला, निशाने पर थीं नूपुर शर्मा

आजमगढ़ से गिरफ्तार किए गए IS संदिग्ध सबाउद्दीन आजमी से पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं. सुरक्षा एजेंसियों को जांच में पता चला है कि वह AIMIM का सक्रिय सदस्य था और आरएसएस नेता उसके निशाने पर थे. उसके टेलीग्राम चैट में नुपूर शर्मा का भी जिक्र मिला है.

X
IS संदिग्ध आजमगढ़ से गिरफ्तार
IS संदिग्ध आजमगढ़ से गिरफ्तार

यूपी के आजमगढ़ से गिरफ्तार ISIS के संदिग्ध सबाउद्दीन आजमी से पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं. आजमी आजमगढ़ के आमिलो इलाके से सभासद का चुनाव लड़ चुका है. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, वह असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM का सक्रिय सदस्य था और लगातार रैलियों में शामिल होता था.

पूछताछ में सामने आया है कि सबाउद्दीन ने RSS के नेताओं को टारगेट करने के लिए RSS के नाम से एक WhatsGroup बनाया हुआ था, जिसमें वह लगातार RSS के नेताओं को जोड़ रहा था. उसका मकसद RSS के नेताओं के बारे में हर मुमकिन जानकारियां जुटाना था.

सबाउद्दीन का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सीज किया गया है. अब उसके फोरेंसिक जांच से खुलासा होगा कि अब तक किन-किन RSS नेताओं के बारे में इसने जानकारी जुटाई.

AL-SAQR MEDIA नाम से बने टेलीग्राम चैनल की जब आज तक ने पड़ताल की तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ. दरअसल नुपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद इस ग्रुप में नुपूर शर्मा को लेकर उर्दू और इंग्लिश में एक पोस्टर शेयर किया गया था, जिसमें नुपूर शर्मा को टारगेट करने की बातें लिखी गई थी.      आतंकी का राजनीतिक कनेक्शन

इसके अलावा ग्रुप में कश्मीर में आतंकियों से जुड़ी पल-पल की जानकारी शेयर की जा रही थी. ग्रुप में भारतीय सेना को टारगेट करने की बातें भी की जा रही थी.

टेलीग्राम ग्रुप के जरिए रची जा रही थी साजिश

Telegram ग्रुप को खताब कश्मीरी लीड कर रहा था. एजेंसियों के मुताबिक 'खताब कश्मीरी'  एक कोड नेम है, ये हैंडलर फिलहाल अफगानिस्तान-पाकिस्तान बॉर्डर से ऑपरेट कर रहा है.

दिल्ली पुलिस, जम्मू-कश्मीर पुलिस के अलाव कई स्टेट की पुलिस की जांच में आतंकवाद से जुड़े मामलों में खताब कश्मीरी का नाम सामने आ चुका है. 

     आतंकी

खताब कश्मीरी ने सबाउद्दीन आजमी को रेडिक्लाइज किया और फिर दूसरे आतंकियों से उसका संपर्क कराया. गाजीपुर फूल मंडी में बरामद IED को लेकर भी खताब कश्मीरी का नाम सामने आया था.

गाजीपुर फूल मंडी में RDX का इस्तेमाल करके रखे गए IED के बरामद होने के कुछ दिन बाद खताब कश्मीरी ने एक पोस्टर जारी कर ये दावा किया था की उसी के स्लीपर सेल ने IED रखी थी और आने वाले दिनों में भारत में और धमाके होंगे. अब एजेंसी इस टेलीग्राम चैनल से जुड़े बाकी मेंबर की पड़ताल में जुटी है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें