scorecardresearch
 

ग्रेटर नोएडा में शुरू हो रहा है हेल्थ ATM, 50 पैरामीटर्स की तुरंत मिलेगी जानकारी

ग्रेटर नोएडा के चार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर हेल्थ एटीएम लगाने की मंजूरी मिल गई है. इन्हें दादरी, दनकौर, बिसरख और डाढ़ा में लगाया जाएगा. इसके अलावा कुछ कंपनियों ने ऑपरेशन "कायाकल्प" से जुड़कर स्कूलों की दशा सुधारने के लिए हाथ बढ़ाया है. इस अभियान के तहत स्कूलों की मरम्मत, रंगाई-पुताई, कुर्सी-टेबल, ग्रीनरी आदि को सुधारा जाएगा.

X
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के साथ कंपनियों की बैठक
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के साथ कंपनियों की बैठक

ग्रेटर नोएडा के लोगों के लिए खुशखबरी है. यहां के चारों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर हेल्थ एटीएम लगने जा रहा है. इन्हें दादरी, दनकौर, बिसरख और डाढ़ा में जल्द लगाया जाएगा. 

ये हेल्थ एटीएम कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के तहत लगाए जाएंगे. सीएसआर की ही मदद से ऑपरेशन "कायाकल्प" के जरिए ग्रेटर नोएडा एरिया में स्थित 154 सरकारी स्कूलों की दशा सुधारने के लिए भी मुहिम चलाई जाएगी.

ये सभी जांच शामिल होंगी हेल्थ एटीएम में 
इस एटीएम के लगने से 50 से अधिक पैरामीटर की जांच हो सकेगी. इनमें शरीर का तापमान, ब्लड प्रेशर, फैट, बॉडी वॉटर, बोन मास, फैट फ्री वेट, ऑक्सीजन सेचुरेशन, प्रोटीन, विजन टेस्ट आदि शामिल हैं. इसमें उन लोगों को खासतौर पर फायदा मिलेगा, जो आर्थिक कमजोर होने की वजह से टेस्ट नहीं करा पाते हैं. 

शुक्रवार को कंपनियों के साथ हुई बैठक 
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ और मेरठ मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह के निर्देश पर एसीईओ दीप चंद्र की अध्यक्षता में शुक्रवार को बैठक की गई. इसमें एसीईओ प्रेरणा शर्मा और जीएम प्रोजेक्ट के प्रभारी सलिल यादव के साथ ग्रेटर नोएडा में स्थित कंपनियां शामिल हुई.

बैठक में एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स, डीएस ग्रुप, मैजिस्टक ऑटो, अनमोल इंडस्ट्रीज, सिस्टमेयर इंडिया, इंडिया स्टील समिट जैसी कई कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल हुए. 

एसीईओ दीप चंद्र ने कहा, "प्रदेश सरकार आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को स्वास्थ्य परीक्षण कराने की निशुल्क सुविधा देना चाहती है. इसलिए हेल्थ एटीएम लगाने की पहल की गई है. कंपनियों के प्रतिनिधि से लोकल सीएसआर फंड का इस्तेमाल करते हुए काम को पूरा कराने की अपील की गई है. एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स और डीएस ग्रुप ने हेल्थ एटीएम लगवाने की हामी भरी है."

ऑपरेशन "कायाकल्प"
अन्य कंपनियों ने ऑपरेशन "कायाकल्प" से जुड़कर स्कूलों की दशा सुधारने को हाथ बढ़ाया है. इस अभियान के तहत स्कूलों की मरम्मत, रंगाई-पुताई, कुर्सी-टेबल, ग्रीनरी आदि को सुधारा जाएगा. प्राधिकरण के परियोजना विभाग ने इन स्कूलों की सूची तैयार कर ली है. 

किन स्कूलों में क्या काम होना है, इसकी भी रिपोर्ट बन चुकी है. बैठक के दौरान ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी इंडस्ट्री मयंक श्रीवास्तव, वरिष्ठ प्रबंधक अनिल जौहरी और कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें