scorecardresearch
 

वाराणसी: ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में आज फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई, तीन मांगों पर आ सकता है फैसला

ज्ञानवापी को हिंदुओं को सौंपने की मांग वाली याचिका पर 30 मई को फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई हुई थी. इस दौरान कोर्ट ने मूल वाद की कॉपी सारे वादियों को देने के लिए कहा था. इसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 8 जुलाई की तारीख तय की थी.

X
ज्ञानवापी से जुड़े एक मामले में आज फास्ट ट्रैक में सुनवाई होगी. -फाइल फोटो ज्ञानवापी से जुड़े एक मामले में आज फास्ट ट्रैक में सुनवाई होगी. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 30 मई को हुई थी पिछली सुनवाई
  • 77 पेज में दायर की गई है याचिका

ज्ञानवापी को हिंदुओं को सौंपने की मांग वाली याचिका पर आज फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई होगी. फास्ट ट्रैक कोर्ट में ज्ञानवापी मस्जिद हिंदुओं को सौंपने, मुस्लिम पक्ष के प्रवेश पर रोक और एडवोकेट कमीशन सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग की आकृति आदिविशेश्वर की तत्काल प्रभाव से प्रतिदिन पूजा प्रारंभ कराने की मांग को लेकर याचिका दाखिल की गई है. इस याचिका पर 30 मई को सुनवाई हुई थी.

पिछली सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकीलों ने याचिका की कॉपी वादी से प्राप्त की थी, ताकि अपना जवाब दाखिल कर सकें. इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई की अगली तारीख 8 जुलाई तय की थी. 

बता दें कि विश्व वैदिक सनातन संघ के महासचिव और आदिविशेश्वर की वाद मित्र किरण सिंह, वादी विकास साह और विद्याचंद ने मई में सिविल जज सीनियर डिविजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में कुल 77 पेज और 122 पैरा की याचिका दायर की थी. याचिका दाखिल होने के बाद जिला जज रवि कुमार दिवाकर ने मुकदमे को फास्ट ट्रैक कोर्ट महेंद्र कुमार पांडे की अदालत में ट्रांसफर कर दिया था.

इस नए मुकदमे में मुख्य रूप से तीन मांग की गई है...

- पूरे ज्ञानवापी परिसर में मुस्लिमों का प्रवेश वर्जित हो
- ज्ञानवापी मस्जिद पूरी तरह से हिंदुओं को सौंपी जाए 
- बाबा विशेश्वर की पूजा तत्काल ज्ञानवापी परिसर में शुरू की जाए. 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें