scorecardresearch
 

मायावती का बड़ा दांव, गुड्डू जमाली को AIMIM से वापस बुलाकर आजमगढ़ उपचुनाव में उतारा

आज ही गुड्डू जमाली की बसपा में वापसी हुई है. घर वापसी के बाद उन्हें उम्मीदवार बनाकर मायावती ने बड़ा दांव चल दिया है. मायावती का ये दांव सीधे अखिलेश यादव के लिए चुनौती है.

X
गुड्डू जमाली और मायावती (फाइल फोटो)
गुड्डू जमाली और मायावती (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश के इस्तीफे से खाली हुई है आजमगढ़ लोकसभा सीट
  • गुड्डू जमाली विधानसभा चुनाव 2022 AIMIM से लड़े थे

AIMIM छोड़कर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का दामन थामने वाले शाह आलम (गुड्डू जमाली) को पार्टी ने लोकसभा उपचुनाव के लिए आजमगढ़ से प्रत्याशी बनाया है. ये सीट समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के इस्तीफे के बाद खाली हुई है.

बता दें कि आज ही गुड्डू जमाली की बसपा में वापसी हुई है. घर वापसी के बाद उन्हें उम्मीदवार बनाकर मायावती ने बड़ा दांव चल दिया है. मायावती का ये दांव सीधे अखिलेश यादव के लिए चुनौती है. इस सीट से अखिलेश यादव सांसद थे, लेकिन 22 मार्च को अखिलेश ने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था.  

यूपी में AIMIM को बड़ा झटका 

यूपी में AIMIM को बड़ा झटका लगा है. विधानसभा चुनाव में पार्टी के एक मात्र उम्मीदवार शाह आलम (गुड्डू जमाली) ही थे जिनकी जमानत बची थी. यूपी की 403 विधानसभा सीटों में असदुद्दीन ओवैसी ने 100 से ज्यादा प्रत्याशी उतारे थे, सिर्फ गुड्डू जमाली ही अपनी जमानत बचा पाए थे.

गुड्डू जमाली चौथे नंबर पर रहे थे और उन्हें 36419 वोट मिले. इस सीट से समाजवादी पार्टी के अखिलेश ने परचम लहराया, जबकि बहुजन समाज पार्टी दूसरे और बीजेपी को तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा था. बता दें कि आजमगढ़ की सभी 10 सीटों पर समाजवादी पार्टी ने कब्जा जमाया है.

मायावती ने सभी कार्यकारिणी को किया भंग

बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज (27) लखनऊ स्थित कार्यालय में समीक्षा बैठक बुलाई थी. इसी बैठक के बीच जानकारी मिली की गुड्डू जमाली ने AIMIM का साथ छोड़ दिया है. वहीं, घर वापसी के बाद मायावती ने बड़ा फैसला लेते हुए गुड्डू जमाली को आजमगढ़ सीट से उपचुनाव में उम्मीदवार बना दिया. इसके साथ ही मायावती ने सभी कार्यकारिणी को भंग करने के साथ 3 चीफ कोऑर्डिनेटर्स की नियुक्ति की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें