scorecardresearch
 

UP: ओम प्रकाश राजभर की बढ़ी मुश्किलें, गाजीपुर में केस दर्ज

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर की मुश्किलें बढ़ गई हैं. गाजीपुर में ओम प्रकाश राजभर पर केस दर्ज किया गया है. उन पर कुछ लड़कों को धमकाने और मारपीट करने का आरोप लगा है.

X
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओम प्रकाश राजभर पर मारपीट का आरोप
  • राजभर ने कल अपने ऊपर हमले का लगाया था आरोप

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और विधायक ओम प्रकाश राजभर पर केस दर्ज किया गया है. गाजीपुर के जहूराबाद से विधायक ओम प्रकाश राजभर पर कुछ लड़कों के साथ मारपीट और गांव का माहौल बिगाड़ने का आरोप लगा है. इससे पहले ओम प्रकाश राजभर ने मंगलवार को अपने ऊपर हमले का आरोप लगाया था.

गाजीपुर के मानसपुर गांव के रहने वाले विश्वकर्मा सिंह ने ओम प्रकाश राजभर पर आरोप लगाया कि 10 मई को दिन में 1 बजे मेरे भतीजे बृजेश सिंह और विवेक सिंह मोटरसाईकिल से चितबड़गांव बाजार जा रहे थे, तभी मानसपुर गांव के बीच रास्ते में ओम प्रकाश राजभर ने सड़क जाम करके गाड़ियों को खड़ा कर दिया और सरकारी चारागाह की जमीन को कब्जा करने की योजन को लेकर बैठक करने लगे.

विश्वकर्मा सिंह का आरोप है कि जब मेरे भतीजों ने गाड़ियों को किनारे करने और जाने का रास्ता मांगा तो विवाद हो गया और सुभासपा के समर्थक गाली देने लगे, इसी बीच ओम प्रकाश राजभर आए और गाली देते हुए ललकारने लगे, फिर उनके साथ मौजूद भीड़ ने मेरे भतीजे के साथ मारपीट की, किसी तरह हम अपनी जान बचाकर गांव से भागे, लेकिन राजभर के साथ मौजूद कई लोग उपद्रव करते रहे.

गाजीपुर पुलिस ने विश्वकर्मा सिंह की शिकायत पर ओम प्रकाश राजभर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. हालांकि, मंगलवार को विधायक ओम प्रकाश राजभर ने अपने ऊपर हमले का आरोप लगाया था. उनका कहना था कि एक गांव में दौरे के दौरान करीब 20 लड़कों ने उन्हें घेर लिया था और उनके हाथ में लाठी-डंडे थे, सभी लड़के मारपीट की कोशिश कर रहे थे.

सुभासपा विधायक ओम प्रकाश राजभर ने आरोप लगाया था कि जब मैं गांव में एक जगह बैठा था, तभी 20 लोग लाठी-डंडे के साथ आए और गाली-गलौज करने लगे, इस दौरान वहां पर मेरे साथ मौजूद करीब 50 लोगों और सुरक्षाकर्मियों ने बाहर निकाला, अभी भी वह मारपीट करने के लिए आमादा हैं, मैंने इसकी शिकायत पुलिस में की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें