scorecardresearch
 

यूपी: इटावा में SDM को धमकाना पड़ा भारी, सपा ब्लॉक प्रमुख का पति गिरफ्तार

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में अवैध खनन करने वालों पर नकेल कसने के लिए प्रशासन को फ्री हैंड दिया है. मालूम हो कि पिछले महीने उन्होंने ही अवैध खनन से जुड़े एक मामले में सोनभद्र के डीएम के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ जांच बैठा दी थी.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अवैध खनन के खिलाफ चेकिंग के दौरान हुई घटना
  • 8 ओवरलोड ट्रकों को कर दिया था सीज

योगी सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत अवैध खनन की कार्रवाई लगातार चल रही है. इसी सिलसिले में इटावा के चकरनगर तहसील में तैनात एसडीएम मलखान सिंह अवैध खनन को लेकर चेकिंग कर रहे थे. चेकिंग में मौरंग से लदे 8 ओवरलोड ट्रकों को सीज कर दिया था. ये सभी ट्रक समाजवादी पार्टी से ब्लॉक प्रमुख चुनी गईं सुनीता यादव के पति शिवकिशोर यादव के थे.

एसएसपी जयप्रकाश ने बताया कि चकरनगर में अवैध खनन रोकने पर एसडीएम द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही थी, जिसमें ओवरलोड ट्रकों को सीज किया गया था. ब्लॉक प्रमुख पति के द्वारा एसडीएम के साथ बदसलूकी की गई और फोन पर धमकी भी दी गई थी, जिसके बाद ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि किशोर यादव को कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया है.

इन धाराओं में दर्ज किया गया है केस

पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम चकरनगर को धमकाने व सरकारी कार्य में बाधा डालने को लेकर धारा 332, 353, 379, 411, 7 सीएलए एक्ट के अलावा 21 (1) खनिज एक्ट में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

सोनभद्र के DM को कर दिया था सस्पेंड

सीएम योगी ने पिछले महीने 31 मार्च को अवैध खनन के मामले में सोनभद्र के डीएम टीके शिबू को सस्पेंड कर दिया था. डीएम के खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी गई थी. सरकार ने बयान जारी कर कहा था, 'डीएम टीके शिबू के खिलाफ खनन और अन्य निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायतें जनप्रतिनिधियों द्वारा की जाती रही है.'

(इनपुट:अमित तिवारी)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें