scorecardresearch
 

अयोध्या का रामकथा म्यूजियम होगा डिजिटल, 3D मैपिंग के जरिए दिखाई जाएगी फिल्म

अयोध्या जाने वालों के लिए खुशखबरी है. यहां आने वाले पर्यटकों को अयोध्या की विरासत और इतिहास को डिजिटली जानने का मौका मिलेगा. 3डी मैपिंग के जरिए आयोध्या दर्शन कराए जाएंगे और रामकथा भी दिखाई जाएगी. यहां रामकथा संग्रहालय को पूरी तरह से डिजिटाइज किया जा रहा है. एक बार में 100 लोग इस फिल्म को देख सकेंगे.

X
अयोध्या में राम मंदिर का प्रस्तावित डिजाइन अयोध्या में राम मंदिर का प्रस्तावित डिजाइन

अयोध्या ( Ayodhya ) के रामकथा संग्रहालय (Ramkatha Museum) को हाइटेक बनाने की तैयारी योगी सरकार ने की है. जल्द ही रामकथा और अयोध्या दर्शन डिजिटली किए जा सकेंगे. इसके लिए रामकथा संग्रहालय का पूरी तरह से डिजीटाईजेशन करने का फ़ैसला योगी सरकार ने किया है. यूपी के टूरिज्म डिपार्टमेंट ने इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली हैं.

अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण जारी है और श्री राम जन्मभूमि कॉरिडोर बनाया जा रहा है. अयोध्या को नए रूप में संवार कर लोगों को आकर्षित करने के लिए यूपी सरकार कोशिश जारी है. इसी क्रम में अयोध्या के इतिहास और यहां की विरासत को जन-जन तक पहुँचाने के लिए रामकथा संग्रहालय का पूरी तरह से डिजिटाइजेशन किया जा रहा है. रामकथा संग्रहालय में डिजिटल माध्यम से यहाँ आने वालों को अयोध्या और श्री रामचरितमानस के बारे में विस्तार से बताया जाएगा. जिसके लिए डिजिटल इंटरवेंशन योजना को लागू करने की तकनीकी औपचारिकताओं को पूरा किया जा रहा है.

डिजिटल इंटरवेंशन योजना को लेकर पर्यटन विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है. अगले महीने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामकथा संग्रहालय में डिजिटल इंटरवेंशन योजना का लोकार्पण कर सकते हैं.

100 से ज्यादा लोग एक साथ देख सकेंगे शो

पर्यटन विभाग की ओर से डिजिटल इंटरवेंशन योजना को तैयार करने में लगभग 1384.17 लाख रुपये खर्च किए गए हैं. इस योजना के तहत अयोध्या के रामकथा संग्रहालय में 40 मिनट तक शो चलाया जाएगा. खास बात यह है कि इसमें इस तरह से व्यवस्था को विस्तार दिया जा रहा है कि 100 से ज्यादा लोग इस शो को एकसाथ देख सकते हैं.

3D मैपिंग से रामकथा का होगा प्रदर्शन

अयोध्या में पर्यटकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है. राजकीय निर्माण निगम द्वारा रामकथा म्यूजिय में चार हॉल का निर्माण कराया जा रहा है. कहा जा रहा है कि सितंबर तक यह संग्रहालय बनकर तैयार हो जाएगा. इस संग्रहालय में 3D मैपिंग के ज़रिए श्रीराम के जीवन पर आधारित फिल्म का प्रदर्शन किया जाएगा. ये फ़िल्म चारों हॉल में अलग-अलग चलेगी. राम के जीवन चरित पर आधारित इस फ़िल्म की कहानी स्क्रीन के लिए के यतींद्र मोहन मिश्र ने लिखी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें