scorecardresearch
 

AMU बवाल: 3 छात्र घायल, 21 छात्रों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने 21 छात्रों को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही एएमयू को 5 जनवरी तक बंद कर दिया गया है. इस ऐलान के बाद हॉस्टल को खाली कराया जा रहा है.

एएमयू यूनिवर्सिटी के बाहर सुरक्षा में तैनात जवान (ANI) एएमयू यूनिवर्सिटी के बाहर सुरक्षा में तैनात जवान (ANI)

  • हिंसा बाद एएमयू 5 जनवरी तक बंद
  • छात्रों को हॉस्टल खाली करने का निर्देश

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में रविवार देर रात हुए बवाल में तीन छात्र घायल हैं. पुलिस ने 21 छात्रों को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही एएमयू में 5 जनवरी तक बंद कर दिया गया है. इस ऐलान के बाद हॉस्टल को खाली कराया जा रहा है. पुलिस की ओर से बस के इंतजाम किए गए हैं. इसके साथ इंटरनेट को बंद कर दिया गया है.

दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के बाद उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में भी रविवार की रात हिंसा भड़क गई थी. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में छात्र यहां प्रदर्शन कर रहे थे. एएमयू के छात्रों ने दिल्ली में जामिया मिलिया में छात्रों पर पुलिस कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन किया. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज किया.

एएमयू के वाइस चांसलर तारीक मंसूर ने बताया कि पुलिस कैंपस में शांति बहाल होने तक रहेगी. हालात को देखते हुए रविवार को पुलिस को बुलाया गया था ताकि कानून व्यवस्था की स्थिति न बिगड़े. अगले 2 दिन में हॉस्टल खाली कराए जाएंगे. इसके लिए छात्रों को पूरी मदद दी जा रही है. जामिया में हिंसा भड़कने के बाद कई अफवाह फैल गई. एएमयू प्रशासन हिंसा की जांच कर रहा है. प्रशासन के मुताबिक भीड़ में कुछ असामाजिक तत्वों ने स्थिति बिगाड़ने का काम किया.

इधर दिल्ली में जामिया यूनिवर्सिटी में सोमवार सुबह कई छात्राओं ने हॉस्टल खाली कर दिए. ये छात्राएं अब अपने घर लौट रही हैं. छात्रावास से अपने जरूरी सामान लेकर ये छात्राएं अपने-अपने घरों के लिए रवाना हो गईं. छात्राओं ने बताया कि रविवार की घटना के बाद उनके परिजन भी बुरी तरह डर गए हैं. इसलिए उन्हें घर जाना पड़ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें