scorecardresearch
 

बरेली में SSP ऑफिस के बाहर महिला ने दरोगा को चप्पल से पीटा, लगाए गंभीर आरोप, VIDEO

उत्तर प्रदेश के बरेली में SSP ऑफिक कैंपस में महिला ने दरोगा को चप्पलों से पीटा. महिला का आरोप है कि दरोगा ने बेवजह अपनी तैनाती के दौरान उसे जेल भेज दिया था. महिला शिकायत लेकर SSP ऑफिस पहुंची थी. इसी दौरान वहां उसी दरोगा को देख महिला ने आपा खो दिया और चप्पलों से पीटने लगी.

X
दरोगा को चप्पलों से पीटती महिला. (Photo: Video Grab)
दरोगा को चप्पलों से पीटती महिला. (Photo: Video Grab)

उत्तर प्रदेश के बरेली में SSP ऑफिस के बाहर एक महिला ने दरोगा को चप्पल से पीट दिया. हंगामा देख लोगों की भीड़ लग गई और लोग मोबाइल से वीडियो रिकॉर्ड करने लगे. महिला का आरोप था कि दरोगा ने अपनी तैनाती के बाद बेवजह उसे जेल भेज दिया था और पैसे लेकर दूसरे पक्ष का साथ दिया. दरोगा को पीटते हुए महिला पुलिस दफ्तर के अंदर ले गई और जमकर खरी खोटी सुनाईं. महिला लगातार अपने साथ हुई नाइंसाफी की शिकायत करती रही.

इस दौरान दरोगा को जूतों की माला पहनाने की भी कोशिश की गई. महिला का आरोप है कि पुलिस दूसरे पक्ष से साठगांठ करके समझौता करने का दबाव बना रही है. मामला सामने आने के बाद पुलिस अधिकारियों ने भी महिला से बात की.

एसपी क्राइम का कहना है कि महिला मानसिक रूप से अभी अशांत है. काउंसलिंग कराने के बाद ही उससे इस प्रकरण पर बात की जाएगी.

यहां देखें Video:-

महिला बोली- उसके साथ 15 साल पहले शादी का झांसा देकर हुआ था शारीरिक शोषण

पीड़िता महिला ने कहा कि हाफिज फिराज पुत्र शब्बीर ने 15 साल पहले शादी का झांसा देकर उसका शारीरिक शोषण किया था. जब उसने शादी की बात कही तो लड़के के घरवालों ने उसके साथ मारपीट की और गाली गलौज कर भगा दिया. इसको लेकर कई बार शिकायत कर चुके हैं, लेकिन दारोगा शिकायत के बाद आरोपी से साठगांठ कर समझौता नामा लगा दिया है, जबकि उसने कोई समझौता नहीं किया. महिला का आरोप है कि बेवजह झूठा केस लगाकर दरोगा ने अपनी तैनाती के दौरान उसे जेल भेज दिया था. अब दरोगा बरेली के थाना प्रेमनगर में तैनात है.

महिला ने  लगाए कई आरोप

महिला ने दरोगा पर पैसे लेकर दूसरे पक्ष की मदद करने का आरोप लगाया. पीड़ित महिला थाना बहेड़ी क्षेत्र की निवासी है. हंगामे के बाद उसे महिला थाने भेज दिया गया. एसपी क्राइम मुकेश कुमार सिंह ने कहा कि पुलिस ऑफिस के बाहर बहेड़ी क्षेत्र की एक महिला चिल्लाती हुई आई और दरोगा से उलझ गई. पता चला है कि महिला ने अलग-अलग प्रकरण पर थाने में प्रार्थना पत्र दिए.

एसपी ने कहा कि जांच में लगाए गए आरोप असत्य पाए गए. अन्य मामलों में समझौता कर लिया गया है. प्रथम दृष्टि में प्रतीत हो रहा है कि महिला मानसिक रूप से स्थिर नहीं है. काउंसलिंग कराई जा रही है. महिला थाने पर डॉक्टर की टीम बुलाई गई है.

कोशिश की जा रही है कि वह शांत होकर अपनी बात कहे. एक बार हम फिर से रिव्यू करेंगे कि क्या बात हुई और उसकी बात में कितनी सच्चाई है. जो सच होगा, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें