scorecardresearch
 

मदरसों पर ना बुल्डोजर चलेगा, ना बंद होंगे, सर्वे पर बोले योगी सरकार के मंत्री दानिश अंसारी

योगी सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री दानिश अंसारी ने कहा कि मदरसों का सर्वे सिर्फ जानकारी इकट्ठा करने के लिये कराया जा रहा है. हम कहीं भी मदरसों की जांच नहीं करा रहे हैं. हम सिर्फ जानकारी जुटा रहे हैं. ये कोई जांच नहीं है. उन्होंने कहा कि हम भरोसा दिलाते हैं कि किसी भी मदरसे पर ना तो बुल्डोजर चलेगा. ना उसे बंद किया जाएगा.

X
योगी सरकार में मंत्री दानिश अंसारी शनिवार को बाराबंकी दौरे पर थे. (फोटो- ट्विटर)
योगी सरकार में मंत्री दानिश अंसारी शनिवार को बाराबंकी दौरे पर थे. (फोटो- ट्विटर)

योगी सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री दानिश अंसारी ने मदरसों के सर्वे पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मदरसों के सर्वे को लेकर विपक्ष भ्रम फैला रहा है. जबकि सच्चाई ये है कि ना मदरसे बंद होंगे और ना मदरसों पर कोई बुल्डोजर कार्रवाई होगी. मंत्री अंसारी ने शनिवार को बाराबंकी में आयोजित एक कार्यक्रम में ये बातें कहीं.

दानिश अंसारी आज बाराबंकी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 72वें जन्मदिन पर बीजेपी के कार्यक्रमों में शामिल होने आए थे. यहां उन्होंने उत्तर प्रदेश में गैर सरकारी मदरसों के सर्वे को लेकर चल रहीं अफवाहों पर विराम लगाया. मंत्री अंसारी ने कहा कि विपक्षी दलों के लोग मदरसों के सर्वे को लेकर भ्रम पैदा कर रहे हैं. 

ये जांच नहीं, जानकारी जुटाई जा रही

उन्होंने स्पष्ट कहा कि ये सर्वे सिर्फ जानकारी इकट्ठा करने के लिये कराया जा रहा है. हम कहीं भी मदरसों की जांच नहीं करा रहे हैं. हम सिर्फ जानकारी जुटा रहे हैं. ये कोई जांच नहीं है. उन्होंने कहा कि हम मुस्लिमों को भरोसा दिलाते हैं कि किसी भी मदरसे पर ना तो बुल्डोजर चलाकर उसे गिराया जाएगा और ना ही उसे बंद किया जाएगा.

मदरसों को आधुनिक बनाने की कोशिश कर रहे

मंत्री दानिश अंसारी कहा कि हम मदरसों की बेहतरी के लिए सर्वे करा रहे हैं. हमारा लक्ष्य मदरसों को आधुनिक बनाना है और हम वही करने की कोशिश कर रहे हैं. योगी सरकार में मदरसों में दीनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा भी दी जा रही है. पहले की सभी सरकारों ने मुस्लिमों को सिर्फ वोट बैंक की तरह ही इस्तेमाल किया है. सिर्फ मोदी और योगी सरकार ने ही अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिये तमाम योजनाएं चलाई हैं.

फंडिंग का सोर्स सिर्फ वेतन के बारे में जानने के लिए

दानिश अंसारी ने कहा कि हमारी मंशा मदरसों को बुरा नाम देना नहीं है. हम किसी मदरसे पर बुल्डोजर नहीं चलाएंगे. हम मदरसों के बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ रहे हैं. फंडिग का सवाल मदरसों की आय का स्रोत जानने के लिए किया जा रहा है, ताकि पता चल सके कि शिक्षकों को वेतन देने के पैसे हैं या नहीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें