scorecardresearch
 

फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के 15 छात्रों के खिलाफ FIR

चार गुना फीस बढ़ाने के खिलाफ सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों के खिलाफ अब यूनिवर्सिटी प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. ऐसे 15 छात्रों को चुनकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है, जो विरोध-प्रदर्शन में शामिल थे. वहीं, 100 अज्ञात के खिलाफ भी केस दर्ज कराया गया है. शिकायत यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर प्रो. हर्ष कुमार ने की है.

X
विश्विद्यालय की फीस चार गुना बढ़ाने पर धरना-प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स.
विश्विद्यालय की फीस चार गुना बढ़ाने पर धरना-प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स.

इलाहाबाद विश्विद्यालय में फीस बढ़ोतरी का मामला तूल पकड़ते जा रहा है. बढ़ी हुई फीस का के खिलाफ धरना-प्रदर्शन कर रहे छात्रों के खिलाफ एक्शन शुरू हो गया है. ऐसे 15 छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. वहीं, 100 अज्ञात के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है. 

शिकायत प्रॉक्टर (कुलानुशाशक) प्रो. हर्ष कुमार ने दर्ज कराई है. एफआईआर कर्नलगंज थाने में कराई गई है. छात्रों ने 20 सितंबर को फीस बढ़ोतरी को लेकर आरपार की लड़ाई का आह्वान किया है.

दरअसल, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के सैकड़ों छात्र कई दिनों से फीस में चार गुना बढ़ोतरी को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्र संघ भवन पर धरना दे रहे हैं और आमरण अनशन शुरू कर दिया है. छात्रों ने बढ़ाई गई फीस के विरोध में छात्र संघ भवन से चंद्रशेखर आजाद पार्क तक एक मसाल जुलूस भी निकाला और कॉलेज प्रशाशन से बढ़ाई गई फीस के आदेश को तत्काल वापस करने की मांग की.

छात्रों का आक्रोश देखकर विश्विद्यालय प्रशाशन ने यूनियन हॉल के गेट पर ताला लगवा दिया था. 16 सितंबर को अनशन पर बैठे कुछ छात्रों की हालात बिगड़ने लगी तो एम्बुलेंस बुलाई गई, लेकिन प्रशासन ने एम्बुलेंस को अंदर आने से मना कर दिया. इसपर गुस्साए छात्रों ने ताला तोड़ दिया था. 

इनके खिलाफ हुआ केस

जिन छात्रों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, उनके नाम अजय यादव सम्राट, अखिलेश यादव, सत्यम कुशवाहा, आयुष प्रियदर्शी, अजय पांडे बागी, मंजीत पटेल, आशुतोष पटेल उर्फ राहुल पटेल, जितेंद्र धनराज, राहुल सरोज, नितिन मलिक, नीरज प्रताप सिंह, संदीप वर्मा, हरेंद्र यादव, अमित द्विवेदी और आकाश यादव है.  

विधानसभा में मुद्दा उठाएगी सपा

समाजवादी पार्टी (सपा) विधायक अतुल प्रधान ने केंद्र सरकार की नीतियों को गलत बताते हुए छात्रों के मुद्दे को विधानसभा में भी उठाने की बात कही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें