scorecardresearch
 

ट्रेन में लेबर पेन, रास्ते में जन्म... चंद मिनट बाद ही सिंगल मां ने बच्चे को अपनाने से किया इनकार

अलीगढ़ में एक मां ने जन्म देने के चंद मिनट बाद ही अपने बच्चे को अपनाने से इनकार कर दिया. इसके बाद जिला अस्पताल में हड़कंप मच गया. बच्चे को जन्म देने वाली मां ने खुद को सिंगल बताते हुए कहा कि मैं बच्चे को दूध नहीं पिला सकती. बताया जा रहा है कि महिला, दिल्ली से गोरखपुर जा रही थी.

X
जन्म के बाद महिला ने अपने बच्चे को अपनाने से किया इनकार
जन्म के बाद महिला ने अपने बच्चे को अपनाने से किया इनकार

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक मां ने जन्म देने के चंद मिनट बाद ही अपने बच्चे को अपनाने से इनकार कर दिया. इसके बाद जिला अस्पताल में हड़कंप मच गया. बच्चे को जन्म देने वाली मां ने खुद को सिंगल बताते हुए कहा कि मैं बच्चे को दूध नहीं पिला सकती. मां और बच्चे को अलीगढ़ चाइल्ड लाइन अपने अंडर लेकर समिति के समक्ष प्रस्तुत करेगी.

दरअसल, अलीगढ़ में एक महिला को ट्रेन में प्रसव पीड़ा हुआ. उसे मोहनलाल गौतम ज़िला महिला चिकित्सालय में भर्ती कराने के लिए ले जाया जा रहा था, तभी रास्ते में लाते हुए एक बच्चे को जन्म दिया. इसके बाद जब महिला ज़िला अस्पताल में महिला पहुंची तो डॉक्टरों की टीम ने सीएमएस के नेतृत्व में उसका इलाज शुरू किया. 

एकाएक सब कुछ सकुशल हो जाने के बाद बच्चे को जन्म देने वाली मां ने अपने ही बच्चे को अपनाने से इनकार कर दिया. इसके बाद महिला ज़िला अस्पताल में हड़कंप मच गया. बच्चे को जन्म देने वाली मां ने खुद को सिंगल बताते हुए कहा कि मैं बच्चे को दूध नहीं पिला सकती. इसके बाद महिला ज़िला अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ भी सकते में आ गये. 

ख़ुद के नवजात बच्चे को फीडिंग कराने से मना करने वाली मां से जब ऐसा करने की वजह डॉक्टरों ने जाननी चाही तो उसने बताया की हम बच्चे को नहीं रख सकते, हम सिंगल हैं. महिला ने बताया कि अगर बच्चा उसके साथ रहेगा तो मर जायेगा, इससे फसको ज़्यादा तकलीफ़ होगी.

ज़िला महिला अस्पताल की सीएमएस रेनू शर्मा ने बताया कि मां ने बच्चे को पालने से इनकार कर दिया है और बच्चा चाइल्ड हेल्पलाइन को सौंपा जा रहा है. बताया जा रहा है कि महिला, दिल्ली से गोरखपुर जा रही थी. ट्रेन में लेबर पेन होने पर रेलवे पुलिस जिला अस्पताल लेकर पहुंची. सीएमएस ने बताया महिला को डिलीवरी हो गई थी. 

जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं. महिला ने आर्थिक तंगी के चलते भी बच्चे को मां ने पालने से इनकार कर दिया है. अब इस स्थिति में बच्चे को चाइल्ड लाइन को सौंपा जाएगा. साथ ही एक पत्र बाल कल्याण समिति को भी भेजा गया है. अलीगढ़ चाइल्ड लाइन इस मामले को समिति के समक्ष प्रस्तुत करेगा, जिसके बाद आगे की कार्यवाही समिति पर निर्भर करेगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें