scorecardresearch
 

'200 यूनिट फ्री बिजली' के वादे का क्या हुआ? अखिलेश के सवाल पर बोले ऊर्जा मंत्री- ऐसा कोई विचार नहीं

यूपी विधानसभा की कार्यवाही के दौरान योगी सरकार के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने साफ कर दिया है कि सरकार प्रदेश की जनता को फ्री बिजली उपलब्ध नहीं कराएगी. सपा नेता अखिलेश यादव के सवाल पर ऊर्जा मंत्री ने इसका जवाब दिया है. यूपी में मॉनसून सत्र के दौरान चल रही सदन की कार्यवाही के दौरान सपा-बीजेपी के सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक देखने को मिल रही है.

X
ऊर्जा मंत्री एके शर्मा (फाइल फोटो)
ऊर्जा मंत्री एके शर्मा (फाइल फोटो)

यूपी विधानसभा की कार्यवाही के दौरान योगी सरकार के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने साफ कर दिया है कि सरकार प्रदेश की जनता को फ्री बिजली उपलब्ध नहीं कराएगी. सपा नेता अखिलेश यादव के सवाल पर ऊर्जा मंत्री ने इसका जवाब दिया है. 

दरअसल सपा विधायक लालजी वर्मा ने विधानसभा में पूछा था कि क्या ऊर्जा मंत्री बताने की कृपा करेंगे कि प्रदेश में निजी नलकूप के लिए विद्युत कनेक्शन में मुख्य लाइन से 300 मीटर की दूरी तक स्थित नलकूप के लिए निशुल्क विद्युत कनेक्शन देने पर सरकार विचार करेगी?

इसी सवाल पर हस्तक्षेप करते हुए अखिलेश यादव ने ऊर्जा मंत्री से जानना चाहा कि चुनाव के दौरान बीजेपी ने जनता को 200 यूनिट बिजली मुप्त देने का वादा किया था उसका क्या हुआ? इसके जवाब में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि ऐसा कोई विचार नहीं है.

यूपी में मॉनसून सत्र के दौरान चल रही सदन की कार्यवाही के दौरान सपा-बीजेपी के सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक देखने को मिल रही है. मंगलवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और बीजेपी से सपा में आए स्वामी प्रसाद मौर्य के बीच गुंडाराज को लेकर तीखी बहस हुई. दरअसल सपा के नेता सदन में प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर हमलावर थे. इस बीच स्वामी प्रसाद ने पुलिस कस्टडी में हुई मौतों को लेकर भी बीजेपी सरकार पर हमला बोला, जिसके बाद केशव प्रसाद मौर्य ने सपा शासन से तुलना करनी शुरू कर दी. 

सपा नेताओं ने 'गुंडा' शब्द पर जताई आपत्ति  

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विपक्ष का चश्मा खराब हो गया है. अपराधों में कमी आयी है. उन्होंने एक के बाद एक आंकड़े गिनाते हुए सपा को उनके कार्यकाल की याद दिलाना शुरू किया. इसी बीच उन्होंने यह कहा कि सपा के समय में जो अपराध थे उनके लिए एक स्लोगन भी कहा जाता था. ‘जिस गाड़ी में सपा का झंडा, उसमें बैठा एक गुंडा.’ इसके बाद हंगामा शुरू हो गया. समाजवादी पार्टी के विधायकों ने 'गुंडा' शब्द पर आपत्ति करते हुए कहा कि ये गलत है. इस पर विपक्ष के विधायकों के हंगामे पर फिर स्वामी प्रसाद मौर्य ने निशाना साधते हुए कहा कि वर्तमान सरकार में जंगलराज है,’गुंडा’ राज है. फिर बीजेपी सदस्यों ने उनको घेरते हुए कहा कि 'गुंडा' शब्द तो उन्होंने भी बोला है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें