scorecardresearch
 

उपचुनाव में BSP का ब्राह्मण-मु्स्लिम कार्ड, BJP-SP की बढ़ सकती है टेंशन

उत्तर प्रदेश में जनाधार बढ़ाने की कोशिशों में जुटी बहुजन समाज पार्टी अपने पुराने सोशल इंजीनियरिंग के फॉर्मूले पर लौटती दिख रही है. मायावती ने उपचुनाव के लिए घोषित 12 प्रत्याशियों में आधे ब्राह्मण-मुस्लिम चेहरे उतारे हैं.

बसपा मुखिया मायावती( फाइल फोटो) बसपा मुखिया मायावती( फाइल फोटो)

  • उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर होने हैं विधानसभा उपचुनाव
  • मायावती ने 12 प्रत्याशियों में उतारे आधे ब्राह्मण-मुस्लिम
  • ब्राह्मण-मुस्लिम समीकरण से सपा-भाजपा को हो सकती है मुश्किल

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने उत्तर प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा सीटों के उपचुनाव में ब्राह्मण-मुस्लिम कार्ड खेला है. सर्वाधिक उम्मीदवार इन्हीं वर्गों के उतारे हैं. सहारनपुर की गंगोह सीट को छोड़कर, पार्टी ने जिन 12 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की है, उनमें आधे ब्राह्मण-मु्स्लिम चेहरे हैं. माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी से लोकसभा चुनाव में हुआ गठबंधन टूटने के बाद बसपा एक बार फिर से सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले के तहत जनाधार बढ़ाने की कोशिश में है.

बसपा की कोशिश है कि ब्राह्मण कार्ड के जरिए भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में और मुस्लिम कार्ड के जरिए सपा के वोटबैंक में सेंधमारी कर अपना जनाधार बढ़ाया जाए. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि लोकसभा चुनाव में सपा के 5 के मुकाबले 10 सीटें जीतने वाली बसपा को भले मुस्लिम वोट मिल जाएं मगर सबसे मजबूती के दौर में खड़ी बीजेपी के कोर ब्राह्मण वोट बैंक में सेंध लगा पाना आसान नहीं होगा. 13 सीटों में फिलहाल हमीरपुर को लेकर ही चुनाव आयोग ने अधिसूचना जारी की है. जिसके मुताबिक यहां  23 सितंबर को मतदान और 27 सितंबर को मतगणना होगी.

बसपा के प्रत्याशियों पर नजर

बसपा ने मुस्लिम वोटों के लिहाज से समृद्ध मानी जाने वाली रामपुर सदर, हमीरपुर और घोसी सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार उतारे हैं. हमीरपुर से नौशाद अली, रामपुर सदर से जुबैर मसूद खान और घोसी से अब्दुल कयूम को पार्टी प्रत्याशी बनाया है.

इसी तरह मायावती ने लखनऊ कैंट, गोविंद नगर(कानपुर) और जलालपुर से ब्राह्मण उम्मीदवार उतारे हैं. उन्होंने लखनऊ कैंट से देवी प्रसाद तिवारी,  गोविंद नगर से देवी प्रसाद तिवारी और जलालपुर सीट से पार्टी सांसद रितेश पांडेय के पिता राकेश पांडेय को टिकट दिया है. इन सीटों पर ब्राह्मण मतदाताओं की अच्छी-खासी संख्या है.

आगामी सभी विधानसभा चुनाव लड़ेगी बसपा

बसपा मुखिया मायावती की अध्यक्षता में  लखनऊ के मॉल एवेन्यू स्थित प्रदेश कार्यालय में केंद्रीय कार्यकारिणी  की बैठक में तय हुआ है कि पार्टी आगामी सभी राज्यों में चुनाव मैदान में अपने दम पर उतरेगी.  बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव में पार्टी उतरेगी. उन्होंने उपचुनाव में किसी दल का साथ लेने से इनकार किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें