scorecardresearch
 

उरी हमले में सेना के 17 जवान शहीद, DGMO ने बताया- हमलावरों के पास से मिला पाकिस्तानी सामान

जानकारी के मुताबिक, एनकाउंटर के दौरान सेना के 20 जवान शहीद हो गए. वहीं सेना के जवानों ने 4 आतंकियों को मार गिराया है. फिलहाल तलाशी अभियान चल रहा है.

आर्मी ब्रिगेड के हेडक्वार्टर पर आतंकी हमला आर्मी ब्रिगेड के हेडक्वार्टर पर आतंकी हमला

जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना की 12 यूनिट के बेस पर हुए आत्मघाती हमले में सेना के 17 जवान शहीद हो गए हैं. सेना ने चारों आतंकियों को भी मार गिराया है. बारामूला के उरी में ये आत्मघाती हमला सुबह करीब सवा 5 बजे हुआ. हमले के बाद देश के सभी एयरपोर्ट हाईअलर्ट कर दिए गए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर हमले की निंदा की. उन्होंने कहा कि मैं देश को आश्वासन देना चाहता हूं कि हमले के पीछे दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. हमले में शहीद हुए जवानों को हम सैल्यूट करते हैं. राष्ट्र के लिए की गई उनकी सेवा हमेशा याद की जाएगी.  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को अलग-थलग किया जाए. उरी हमले के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.

हमलावरों के पास से मिले पाकिस्तानी सामान
डीजीएमओ जनरल रणबीर सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि हमला जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने किया. उनके पास आग लगाने वाले हथियार थे. सेना के एक शिविर में आग फैल गई. आतंकियों के पास से बरामद चीजों पर पाकिस्तान की मार्किंग है. मैंने पाक डीजीएमओ में बात की है और अपनी नाराजगी व्यक्त कराई है. डीजीएमओ ने बताया कि आतंकियों के पास से 4 एके 47 और ग्रेनेड बरामद हुए. इलाके में अभी भी सर्च ऑपरेशन जारी है. 14 जवानों की मौत टेंट में आग लगने से हुई

सूत्रों ने बताया कि हमले के समय डोगरा रेजीमेंट के जवान एक तंबू में सोए हुए थे, जिसमें विस्फोट के चलते आग लग गई. आग पास स्थित बैरकों तक भी फैल गई. माना जा रहा है कि हमले को घुसपैठ करके आए आतंकियों के समूह ने अंजाम दिया और वे संभवत: शहर में सलामाबाद नाला के रास्ते घुसे थे.

गृह मंत्री ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक
इस बीच सेना अध्यक्ष दलबीर सिंह सुहाग श्रीनगर पहुंच गए हैं. वहीं गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, गृह सचिव राजीव महर्षि, डीजी सीआरपीएफ दुर्गा दास, आईबी चीफ दिनेश्वर शर्मा, रक्षा सचिव जी मोहन कुमार और डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह बैठक में मौजूद रहे.

इसके पहले 10-11 सितंबर को पुंछ में अल्लाहपीर इलाके में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. इस दौरान एक पुलिस कांस्टेबल शहीद हो गए, जबकि एक सब इंस्पेक्टर और एक नागरिक घायल हुए हैं. पुंछ के अलावा नौगाम सेक्टर में भी मुठभेड़ हुई, जिसमें घुसपैठ की कोशिश कर रहे 7 आतंकियों को सेना ने मार गिराया. उनके पास से हथियार भी बरामद किए गए थे.


एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या इन आतंकवादियों ने पाकिस्तान सीमा की ओर से भारतीय सीमा में घुसपैठ की या फिर यह हमला यहीं पर संचालित किसी आतंकवादी संगठन का है.

घाटी में अशांति का माहौल
आठ जुलाई को सुरक्षाबलों द्वारा एक मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी को ढेर किए जाने के बाद से पिछले करीब दो माह से कश्मीर घाटी में अशांति बनी हुई है. इस दौरान सुरक्षाबलों और नागरिकों के बीच हुए संघर्ष में अब तक करीब 80 लोगों की मौत हो चुकी है.

गृह मंत्री का अमेरिकी-रूस दौरा रद्द
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू एवं कश्मीर में मौजूदा अशांत स्थिति के मद्देनजर रविवार को अपना अमेरिका और रूस का दौरा स्थगित कर दिया. उन्होंने उरी में आतंकवादी हमले के बाद अधिकारियों से राज्य में स्थिति पर करीबी नजर बनाए रखने के निर्देश दिए. राजनाथ ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, 'मैंने उरी में आतंकवादी हमले के मद्देनजर जम्मू एवं कश्मीर की मौजूदा स्थिति को देखते हुए अपना रूस और अमेरिका दौरा स्थगित कर दिया है.

उन्होंने कहा कि मैंने उरी में आतंकवादी हमले के संबंध में जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की. उन्होंने मुझे राज्य में सुरक्षा स्थिति से अवगत कराया. मैंने केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि और केंद्रीय गृह मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को स्थिति पर करीब से नजर बनाए रखने के निर्देश दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें