scorecardresearch
 

पिनाराई विजयन ने एक ही शॉट में केरल कांग्रेस के 10 बड़े नेताओं को यूं लगा दिया किनारे

केरल का सोलर घोटाला पूरे देश भर में सुर्खियों में रहा है. एक मलयाली चैनल पीपल टीवी इस कथित घोटाले को सबके सामने लाया था. मामले में कई नए मोड़ आने के बाद जांच आयोग की रिपोर्ट सामने आ गई है, इस रिपोर्ट से कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं के राजनीतिक भविष्य पर अंधेरा छाना तय है.

X
पिनारई विजयन (फाइल)
पिनारई विजयन (फाइल)

केरल का सोलर स्कैम पूरे देशभर में सुर्खियों में रहा है. एक मलयाली चैनल पीपल टीवी इस कथित घोटाले को सबके सामने लाया था. मामले में कई नए मोड़ आने के बाद जांच आयोग की रिपोर्ट सामने आ गई है, इस रिपोर्ट से कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं के राजनीतिक भविष्य पर अंधेरा छाना तय है.

केरल में सोलर पावर घोटाले की मुख्य आरोपी सरिता एस नायर ने राज्य के मुख्यमंत्री ओमान चांडी पर गंभीर आरोप लगाए थे. सरिता ने जांच आयोग से कहा था कि मुख्यमंत्री को उसने 1 करोड़ 90 लाख रुपये रिश्वत दी है. यही नहीं, सरिता ने राज्य के उर्जा मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अर्यादन मोहम्मद को भी 40 लाख रुपये रिश्वत देने का आरोप लगाया था.

लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) ने मामले के सामने आने के बाद सीएम ओमान चांडी और अन्य आरोपियों से इस्तीफे की मांग तेज कर दी थी. एलडीएफ की हड़ताल के बाद चांडी ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए थे.

सोलर घोटाले की जांच के लिए जस्टिस जी श्रीनिवासन की अध्यक्षता में एक आयोग गठित किया गया था. आखिरकार 4 साल बाद इस आयोग की रिपोर्ट सामने आई है. रिपोर्ट सामने आने के बाद सीपीआई (एम) और पिनरई विजयन जरूर खुश हो रहे होंगे. इस रिपोर्ट के आने के बाद कांग्रेस के इन 10 बड़े नेताओं का किनारे लगना तय है.

1-भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी भ्रष्टाचार पर विजिलेंस जांच और यौन उत्पीड़न के मामले में अन्य कानूनी कार्रवाइयों का सामना करेंगे.

2-राज्य के पूर्व गृह मंत्री तिरुवंचूर राधाकृष्णन पर पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी को बचाने का आरोप है. उनके खिलाफ एक आपराधिक मुकदमा दर्ज किया गया है.

3-पूर्व ऊर्जा मंत्री अर्यादन मोहम्मद भी ओमान चांडी की तरह भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न के आरोपी हैं. उनके खिलाफ भी वही कानूनी कार्रवाई होगी जो ओमान चांडी के खिलाफ होगी.

4-पूर्व केंद्रीय मंत्री केसी वेणुगोपाल के खिलाफ भी भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न के आरोप हैं.

5-पूर्व मंत्री अदूर प्रकाश पर भी भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है.

6-विधायक हैबी इदन पर भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न के आरोप.

7-सांसद जोश के मणि पर यौन उत्पीड़न का आरोप है हालांकि सेक्सुअल फेवर मांगना भी भ्रष्टाचार की श्रेणी में भी आता है इसलिए उन्हें भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का भी सामना करना होगा.

8-विधायक एपी अनिल कुमार पर भी यौन उत्पीड़न का आरोप है लेकिन उन्हें भी मणि की तरह भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न दोनों आरोपों का सामना करना पड़ेगा.

9-पूर्व विधायक थामपन्नूर रवि पर साक्ष्य नष्ट करने और दोषियों को बचाने की कोशिश करने का आरोप है.

10-पूर्व विधायक बेन्नी बहनान पर भी सबूत मिटाने और दोषियों को बचाने की कोशिश करने का आरोप है.

पिनाराई विजयन ने सोलर स्कैम का यह जिन्न ऐसे वक्त खोला है, जब प्रदेश कांग्रेस पार्टी नेतृत्व में फेरबदल करने की तैयारियों में जुटी हुई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जहां सोलर स्कैम में जांच का सामना कर रहे हैं, ऐसे में कांग्रेस नेतृत्व को नए हाथों में देने का यह सही मौका साबित हो सकता है.

कई लोगों का मानना है कि वी डी सातीशान पार्टी के अगले अध्यक्ष हो सकते हैं. हालिया घटनाक्रम से पूर्व सीएम के. करुणाकरण के बेटे वी मुरलीधरन के लिए भी उम्मीद की किरण नजर आ रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें