scorecardresearch
 

राम मंदिर भूमि पूजन से पहले सचिन पायलट ने दीं शुभकामनाएं

सचिन पायलट ने ट्वीट कर कहा है कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन के सुअवसर पर समस्त देश और प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं. जय श्री राम.

राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (फाइल फोटो) राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (फाइल फोटो)

  • पायलट ने ट्वीट कर लिखा जय श्रीराम
  • पीएम की मौजूदगी में होना है भूमि पूजन
राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों और देशवासियों को बधाई दी है. सचिन पायलट ने अपने ट्वीट में जय श्रीराम भी लिखा है.

सचिन पायलट ने ट्वीट कर कहा है कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन के सुअवसर पर समस्त देश और प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं. जय श्री राम. पायलट का यह ट्वीट ऐसे समय आया है, जब उनके भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं.

खत्म हुआ बरसों का इंतजार, PM मोदी आज करेंगे अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन

हालांकि, सचिन पायलट पहले ही यह साफ कर चुके हैं कि वे भाजपा में शामिल नहीं होंगे. गौरतलब है कि राजस्थान में सरकार के नेतृत्व परिवर्तन की मांग को लेकर सचिन पायलट ने बागी तेवर अपना लिए थे. इसके बाद जयपुर पहुंचे कांग्रेस के पर्यवेक्षकों ने पायलट को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने का ऐलान किया था. पायलट को गहलोत कैबिनेट से भी बर्खास्त कर दिया गया था.

राम मंदिर आंदोलन के वो बड़े चेहरे जो नहीं बन पाएंगे भूमिपूजन के पलों के गवाह

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन होना है. इसके लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं. पीएम मोदी 12.30 बजे शिलापट्ट का अनावरण कर भूमि पूजन के कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे. 12.44 बजे शुभ मुहूर्त में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन किया जाना है.

भूमि पूजन से एक दिन पहले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने अपने घर पर राम दरबार सजाकर हनुमान चालीसा का पाठ किया. वहीं, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा ने भी बयान जारी कर शुभकामनाएं दीं. कांग्रेस महासचिव ने अपने बयान में कहा कि राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और संस्कृति का समागम बने.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें