scorecardresearch
 

Indian Railways: ट्रेन में बैठे पुतलों को क्यों पहनाया गया मास्क? देखें वीडियो

Hubballi Rail Museum: हुबली के नए रेल म्यूजियम में कोरोना काल में सुरक्षा नियमों का पालन करने और मास्क लगाने को लेकर यात्रियों को जागरुक करने के लिए ट्रेन में बैठे पुतलों को मास्क पहनाया गया है. लोगों में जागरुकता के लिए इसे बेहद खूबसूरती से सजाया गया है.

Indian Railways Hubballi Rail Museum Spread Awareness about Masks Indian Railways Hubballi Rail Museum Spread Awareness about Masks

कोरोना महामारी (Corona epidemic) के इस मुश्किल दौर में भारतीय रेलवे (Indian Railways) यात्रियों की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है. रेलवे ने रेल यात्रियों को सफर के दौरान मास्क लगाना अनिवार्य किया है. कोरोना से बचने के लिए रेलवे यात्रियों को जागरुक कर रहा है. कोरोना काल में कर्नाटक के हुबली में बने नए रेल म्यूजियम में भी इसका उदाहरण देखने को मिला.

दरअसल, हुबली के नए रेल म्यूजियम में कोरोना काल में सुरक्षा नियमों का पालन करने और मास्क लगाने को लेकर यात्रियों को जागरुक करने के लिए ट्रेन में बैठे पुतलों को मास्क पहनाया गया है. लोगों में जागरुकता के लिए इसे बेहद खूबसूरती से सजाया गया है. रेलवे का यह म्यूजियम हुबली रेलवे स्टेशन के पास नेशनल हाइवे-67 पर स्थित है. इस रास्ते से गुजरने वाले लोग कभी भी रेलवे म्यूजियम घूम सकते हैं.

साउथ-वेस्टर्न रेलवे (South Western Railway) ने ट्वीट करके रेल म्यूजियम में स्थित ट्रेन की फोटो शेयर की. जिसमें यात्रियों के तौर पर पुतलों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क पहनाकर बिठाया गया है. देखने में ये काफी आकर्षक लग रहे हैं, साथ ही लोगों में सफर के दौरान इस तरह के नियमों के पालन करने को लेकर जागरुकता फैला रहे हैं.

कर्नाटक के हुबली में बने रेल म्यूजियम में विकसित होते भारत के हर चरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली भारतीय रेल के समय के साथ बदलने की झलक मिलेगी. रेलवे के गौरवशाली इतिहास को दर्शाता रेलवे का म्यूजियम जनता के लिए खोल दिया गया है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करके बताया कि म्यूजियम की एंट्रेस विजिटर्स के लिए मनमोहक है. इसके अलावा 150 साल पुराने पार्सल वेइंग मशीन की मदद से पार्सल ऑफिस सेटअप किया गया है. म्यूजियम में थिएटर कोच, टॉय ट्रेन, कैफे, मॉडल ट्रेन रन जैसी अनेक आकर्षक सुविधाएं और मनोरंजन के साधन भी उपलब्ध हैं.

बता दें कि कोरोना महामारी के बीच रेलवे यात्रियों की सुरक्षा के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है. साथ ही यात्रियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया करा रहा है. ऐसे में रेलवे के इतिहास और विकास यात्रा से जुड़ी जानकारियों के लिए रेल म्यूजियम बनाया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें