scorecardresearch
 

पुष्पेंद्र केस: अखिलेश बोले- ये हत्या है, सपा पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाएगी

पुष्पेंद्र एनकाउंटर का मुद्दा लगातार गर्माता जा रहा है. अब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पुष्पेंद्र एनकाउंटर को हत्या बताया है.

अखिलेश यादव (फाइल फोटो-आईएएनएस) अखिलेश यादव (फाइल फोटो-आईएएनएस)

  • पुष्पेंद्र एनकाउंटर पर गरमाई सियासत
  • अखिलेश यादव ने बताया हत्या का मामला

पुष्पेंद्र एनकाउंटर के मुद्दे पर बवाल लगातार बढ़ता जा रहा है. अब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पुष्पेंद्र एनकाउंटर को हत्या बताया है.

झांसी में अखिलेश ने कहा कि पुष्पेंद्र के परिवार के साथ अन्याय हुआ है. ये हत्या है. फेक एनकाउंटर है. पीड़ितों की एफआईआर दर्ज नहीं हो रही है. पीड़ित परिवार के लिए हम न्याय की मांग करते हैं. समाजवादी पार्टी पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाएगी. इसके साथ ही अखिलेश यादव ने हाईकोर्ट के सीटिंग जज से मामले की जांच कराने की मांग की.

एसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि झांसी, जालौन, कालपी और कानपुर सच जनता है. दोषियों को सरकार बचा रही है. उत्तर प्रदेश को ह्यूमन राइट्स वॉइलाशन के लिए सबसे ज्यादा नोटिस मिले हैं. प्रदेश में सबसे ज्यादा कस्टोरियल डेथ हो रहे हैं.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, पुष्पेंद्र पर पुलिस ने आरोप लगाया है कि बीते शनिवार की रात वह मोठ थाने के इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह चौहान पर हमला करने के बाद उनकी कार लूटकर भाग रहा था. जिसके चलते अगली सुबह पुलिस ने पुष्पेंद्र यादव को गुरसराय थाना क्षेत्र में एक मुठभेड़ में कथित तौर पर मार दिया था. पुलिस के मुताबिक उसके 2 साथी भाग निकले थे. पुलिस का ये भी आरोप है कि पुष्पेंद्र की कार से दो तमंचे कारतूस और मोबाइल भी बरामद किए गए हैं.

परिजनों ने क्या आरोप लगाए?

परिजनों का आरोप है कि पुष्पेंद्र को जबरन पकड़कर मारा गया है. परिजनों का आरोप है कि पुष्पेंद्र के खिलाफ कोई शिकायत नहीं थी. कभी किसी ने उसके बारे में कुछ नहीं कहा. लेकिन पुलिस ने उसे अपराधी बताकर मार डाला. उसके खिलाफ फर्जी केस दर्ज किए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें