scorecardresearch
 

पुडुचेरी के CM बोले- राज्य को ट्रांसजेंडर घोषित कर दे केंद्र, हम न इधर के न उधर के

वी. नारायणसामी ने कहा कि भारत सरकार को जब जैसा सूट करता है, वह अपने हिसाब से सुलूक करता है. मैं उनसे कहता हूं कि वे हमें कम से कम ट्रांसजेंडर घोषित कर दें. हम न इधर के हैं और न उधर के. यही हमारी स्थिति है.

मुख्यमंत्री वी. नारायमसामी की फाइल फोटो मुख्यमंत्री वी. नारायमसामी की फाइल फोटो

  • नारायणस्वामी ने पुडुचेरी के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया
  • वी. नारायणस्वामी ने कहा, हम न इधर के हैं और न उधर के

पुड्डुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी के साथ जारी तनातनी के बीच मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि भारत सरकार को जब जैसा सूट करता है, वह अपने हिसाब से हमारे साथ सुलूक करता है. मैं उनसे कहता हूं कि वे हमें कम से कम ट्रांसजेंडर घोषित कर दें. हम न इधर के हैं और न उधर के. यही हमारी स्थिति है.

नारायणस्वामी ने कहा कि जब जीएसटी जैसे विषयों की बात आती है तो पुडुचेरी के साथ राज्य की तरह व्यवहार किया जाता है लेकिन जब ऐसी योजनाओं की बात आती है जिन्हें पुडुचेरी में लागू करने की आवश्यकता होती है तो उन्हें केंद्रशासित प्रदेश की तरह माना जाता है.

नारायणस्वामी ने यह भी दावा किया कि मद्रास स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स द्वारा किए गए एक अध्ययन में कहा गया है कि पुडुचेरी को केवल 1570 करोड़ का फंड दिया गया है, जबकि यह लगभग 3500 करोड़ का है. नारायणस्वामी ने भारतीय सामाजिक विज्ञान संस्थान, पुडुचेरी और गुलाटी इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंस एंड टैक्सेशन, तिरुवनंतपुरम की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में यह टिप्पणी की.

नारायणस्वामी ने केंद्र पर पुडुचेरी के साथ भेदभाव किए जाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेशों के साथ केंद्र अलग-अलग तरह से रवैया करता है. उन्होंने कहा, हम न यहां के हैं और न वहां के, इसलिए हमने पुडुचेरी को ट्रांसजेंडर घोषित करने की मांग की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें