scorecardresearch
 

आतंकियों से पुलिस ने बात करने की कोशिश की थी

मुंबई पुलिस ने पहली बार ये माना है कि उसने नरीमन हाउस के आतंकवादियों से बात करने की कोशिश की थी.

मुंबई पुलिस ने पहली बार ये माना है कि उसने नरीमन हाउस के आतंकवादियों से बात करने की कोशिश की थी. हालांकि पुलिस की कोशिश कामयाब नहीं हो पाई थी और आतंकवादियों से कोई बात नहीं हो पाई थी.

असिस्टेंट कमिश्नर इसाक बागवान ने कहा है कि उन्हे एडिशनल कमिश्नर रामाराव पवार से ये आदेश मिला था. बागवान के मुताबिक वो नंबर था-  9819464530. इस नंबर पर जब उन्होने बात करने की कोशिश की तो आधे घंटे तक नंबर व्यस्त आता रहा. इसके बाद फोन की घंटी बजी जरूर लेकिन किसी ने फोन उठाया नहीं.

इसके पहले भी ये खबर आई थी कि नरीमन हाउस के आतंकवादी, कसाब को छुड़ाने की मांग कर रहे थे. न्यूयार्क के एक प्रोफेसल पी वी विश्वनाथ ने ये खुलासा किया था कि उन्होने रब्बी लेवी के प्रतिनिधि के तौर पर आतंकवादियों को पांच बार फोन किया था. उसी वक्त इमरान बाबर नाम के एक आतंकवादी ने कहा था कि हम भारत सरकार से बात करना चाहते हैं. हमारा एक बंदा आपके कब्जे में हैं. हमारे सामने उसे पेश कर दो.

ये सूचना अमेरिका के भारतीय दूतावास में आई।वहां के अधिकारियों ने दिल्ली और मुंबई से संपर्क साधा और ऐसे पुलिस अधिकारी की खोज शुरू हुई जो हिन्दी और अंग्रेजी में बात कर सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें