scorecardresearch
 

पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश से पहले शाह का ट्वीट- IMPORTANT!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में अमित शाह ने लिखा कि आप लोग 4 बजे पीएम मोदी का संबोधन जरूर सुनें.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

  • शाम 4 बजे देश को संबोधित करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी
  • कोरोना, अनलॉक-2, चीन विवाद पर कर सकते हैं बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश को संबोधित करेंगे. सबकी निगाहें इस संबोधन पर टिकी हैं कि पीएम मोदी क्या बोलेंगे? संबोधन से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में अमित शाह ने लिखा कि आप लोग 4 बजे पीएम मोदी का संबोधन जरूर सुनें.

आज शाम 4 बजे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन देंगे तो हर कोई सोच रहा है कि मोदी किस मुद्दे पर बोलेंगे. उनकी प्राथमिकता क्या होगी. एलएसी पर लगातार गुस्ताखी कर रहे चीन को रास्ते पर लाने के लिए मोदी कोई प्लान पेश करेंगे या कोरोना पर कुछ बड़ा ऐलान करेंगे.

वहीं, कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद बता चुके हैं कि अब तक दो गज की दूरी और मास्क या फेसकवर ही कोरोना संक्रमण से बचने का तरीका है. फिर 1 जुलाई से अनलॉक-2 भी लागू हो रहा है. ऐसे में सबकी नजर प्रधानमंत्री के देश के नाम संबोधन और जनता से एक बार फिर मुखातिब होने पर टिकी है.

PM मोदी 4 बजे देश को करेंगे संबोधित, जानें कैसे और कहां देखें LIVE

सबको उम्मीद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन की हिमाकत पर बोल सकते हैं. ऐसा इसलिए लगता है क क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी के संबोधन से एक दिन पहले ही भारत सरकार ने बहुत बड़ा फैसला किया है. भारत ने चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया है. इन ऐप्स को इनफॉर्मेंशन टेक्नॉलोजी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत बैन किया गया है.

कोरोना काल में छठी बार देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, जानें अबतक क्या ऐलान किए

चीनी ऐप्स को बैन की करने की भारत सरकार ने कई वजहें बताई हैं-

- इनसे भारत की सुरक्षा, संप्रभुता और एकता को खतरा बताया गया है.

- ऐप्स के जरिए 130 करोड़ भारतीयों के डेटा की सुरक्षा को खतरा बताया गया है.

आजतक का लाइव टीवी देखने के लिए यहां क्लिक करें....

- अवैध तरीके से यूजर का डेटा चोरी कर भारत के बाहर मौजूद सर्वर पर भेजा जा रहा था

- इन ऐप्स से लोगों की प्राइवेसी को खतरा बताया गया है.

- संसद के अंदर और बाहर भी इन ऐप्स को लेकर चिंताई जाहिर की गई थीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें