scorecardresearch
 

10 घंटे तक चर्चा के बाद राज्यसभा से भी पास हुआ सवर्ण आरक्षण बिल

aajtak.in | 09 जनवरी 2019, 10:29 PM IST

राज्यसभा में सामान्य वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने से जुड़े 124वां संविधान संशोधन बिल को 10 घंटे की चर्चा के बाद पारित कर दिया गया. बीते दिन लंबी चर्चा के बाद हुई वोटिंग के बाद इस बिल को लोकसभा में पारित कर दिया गया था. बिल पास होने के बाद बुधवार को राज्यसभा की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई है. अब संसद का शीतकालीन सत्र खत्म हो चुका है.

 

10:29 PM (2 वर्ष पहले)

राज्यसभा अनिश्चित काल के लिए स्थगित

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में उपसभापति ने शीतकालीन सत्र में हुए कामकाज का ब्यौरा देते हुए सदन की कार्यवाही को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया है.
10:27 PM (2 वर्ष पहले)

राज्यसभा से पास आरक्षण बिल

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा से 124वें संविधान संशोधन बिल को वोटिंग के बाद पारित कर दिया गया. बिल के पक्ष में 165 वोट पड़े जबकि 7 सांसदों ने इसके खिलाफ वोट किया. यह बिल लोकसभा से पहले ही पारित हो चुका है. उपसभापति ने सदन को बताया कि बिल पर करीब 10 घंटे तक चर्चा हुआ जबकि इसके लिए 8 घंटे का वक्त तय किया गया था.
10:15 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में अब 124वें संविधान संशोधन पर विभिन्न सदस्यों की ओर से लाए गए संशोधन प्रस्तावों पर वोटिंग हो रही है. हालांकि किसी भी सांसद का संशोधन प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया गया है.
10:06 PM (2 वर्ष पहले)

सेलेक्ट कमेटी में भेजने का प्रस्ताव खारिज

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में आरक्षण बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के प्रस्ताव पर वोटिंग हुई लेकिन यह प्रस्ताव खारिज हो गया. बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के समर्थन में 18 वोट पड़े जबकि इस प्रस्ताव के खिलाफ 155 सांसदों ने वोट किया. सदन में कुल 174 सांसद मौजूद हैं.
9:58 PM (2 वर्ष पहले)

सेलेक्ट कमेटी में भेजने पर वोटिंग

Posted by :- Anugrah Mishra
आरक्षण बिल को कई सांसदों ने सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग की है. इनमें टी के रंगराजन, कनिमोझी शामिल हैं. सांसदों के इस प्रस्ताव को ध्वनि मत से खारिज कर दिया गया. अब लोकसभा के भीतर बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने के प्रस्ताव पर वोटिंग हो रही है.
9:45 PM (2 वर्ष पहले)

चर्चा के बाद मंत्री का जवाब

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत अब चर्चा के बाद सदन में बोल रहे हैं और उन्होंने कहा कि आज सदन इतिहास रचने जा रहा है. उन्होंने कहा कि अच्छे मन से और अच्छी नीति के साथ नरेंद्र मोदी की सरकार यह बिल लेकर आ रही है. मंत्री ने कहा कि कांग्रेस बताए कि वो कैसे इस बिल को लाती, क्योंकि सवर्णों को आरक्षण देने का वादा तो उसने भी किया था. मंत्री ने कहा कि करीब 36 लोगों ने इस बिल के बारे में अपने विचार व्यक्त किए हैं और 2-3 दलों को छोड़कर बाकी सभी ने इसका समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि देश की परंपरा है कि उच्च वर्ग के लोगों ने पिछड़ो को आरक्षण देने का काम किया आज पिछड़ी जाति के होने के बावजूद नरेंद्र मोदी सवर्णों को आरक्षण देने का काम कर रहे हैं.
9:44 PM (2 वर्ष पहले)

पहले बिल लाते तब भी अवसरवादी ही कहलाते मोदी: अमर सिंह

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में निर्दलीय सांसद अमर सिंह ने बिल का समर्थन करते हुए कहा कि जो लोग बिल का विरोध कर रहे हैं वो वोट क्यों दे रहे हैं. अगर यह बिल इतना ही गंदा है तो वोट न दें. उन्होंने कहा कि सवर्णों ने बहुत पहले से ही अपना मन बदल लिया है, दलित से रिश्ते कायम किए, रोटी-बेटी के संबंध बनाए. उन्होंने कहा कि गरीब सवर्णों के आरक्षण के सवाल पर देश, काल और परिस्थिति की बात हो रही है. अगर मोदीजी तीन राज्यों के चुनाव से पहले बिल लाते तो उन्हें अवसरवादी कहा जाता, अब ला रहे हैं तो भी आपत्ति हो रही है.  
9:20 PM (2 वर्ष पहले)

चुनाव की वजह से लाया गया बिल: अठावले

Posted by :- Anugrah Mishra
राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कविता पढ़ते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने सवर्णों को आरक्षण देने की हिम्मत दिखाई है इसलिए 2019 में उनकी खिदमत बढ़ेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 70 साल तक सवर्णों को धोखा दिया है और मेरे पास नरेंद्र मोदी से दोस्ती करने की कला है, इसलिए कांग्रेस छोड़कर मैं बीजेपी की तरफ चला. सवर्णों को आरक्षण देकर मोदीजी ने मारा है छक्का, 2019 में विजय है उनका पक्का. मोदीजी और शाहजी मुझे दे देंगे थोड़ा धक्का तो मैं कांग्रेस के खिलाफ मार पाऊंगा छक्का. अठावले ने कहा कि हमेशा से मैं सवर्णों को आरक्षण की मांग करता आया हूं और चुनाव नजदीक आ गया है तो बिल लाने की जरूरत है.
8:53 PM (2 वर्ष पहले)

दलितों का आरक्षण खत्म करेगी सरकार: संजय

Posted by :- Anugrah Mishra
आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा कि इस बिल के तहत सरकार ने गरीब सवर्णों को धोखा देने का काम किया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी की राजधानी में बैठने वाले लोग दलित विरोध हैं और वहीं से इस बिल का दस्तावेज आया है. नागपुर के प्रमुख यह बोल चुके हैं कि आरक्षण खत्म होना चाहिए और दलितों को आरक्षण को खत्म करने की मंशा के साथ यह बिल लाया गया है. नागपुर में एक भी प्रमुख दलित और पिछड़े वर्ग से नहीं बैठा है, यह इनकी नियत है. उन्होंने सभी दलों से इस बिल को सदन से पारित नहीं होने देने की अपील की.
8:45 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
कांग्रेस सांसद पी. एल. पुनिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अनारक्षित वर्ग के गरीबों को आरक्षण देने का समर्थन करती आई है. उन्होंने कहा कि देश की 80 फीसदी आबादी को 50 फीसदी आरक्षण मिला हुआ है, बाकी 20 फीसदी को 50 फीसदी आरक्षण उपलब्ध है. पुनिया ने कहा कि आरक्षण के ऊपर सरकार की टेढ़ी नजर है और बार-बार इनके बड़े नेता आरक्षण की समीक्षा की बात करते हैं.
8:35 PM (2 वर्ष पहले)

निजी क्षेत्र में आरक्षण दे सरकार: राजा

Posted by :- Anugrah Mishra
सीपीआई सांसद डी राजा ने कहा कि आर्थिक आधार पर आरक्षण संविधान सभा की चर्चा के खिलाफ है. मूछ बढ़ाने पर गुजरात में दलित युवक की लिंचिंग की जाती है, यह किस प्रकार का भारत हम बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि संविधान में सामाजिक पिछड़ेपन के लिए आरक्षण का प्रावधान है, कही भी आर्थिक आधार पर आरक्षण का जिक्र नहीं है. राजा ने कहा कि आप हर बिजनेस हाउस को सपोर्ट करते हैं अगर हिम्मत है तो प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण का बिल लेकर आएं, हम उसका समर्थन करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि वामपंथियों ने हमेशा से गरीबों की लड़ाई लड़ी है और हम ही समाज में बराबरी, सामाजिक न्याय के लिए सड़कों पर उतरे हैं.  
8:17 PM (2 वर्ष पहले)

आरक्षण को खत्म करने का एजेंडा: शैलजा

Posted by :- Anugrah Mishra
कांग्रेस की सांसद कुमारी शैलजा ने कहा कि जब देश की जनता आपसे दूर जा रही है तब आप आखिरी सत्र के आखिरी दिन यह बिल लेकर आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में यह बिल टिक नहीं पाएगा क्योंकि आपके पास कई सवालों का जवाब नहीं है, आप लोगों को गुमराह कर रहे हैं. कांग्रेस सांसद ने कहा कि महिला आरक्षण के बारे में सरकार क्यों नहीं सोच रही है. वोट लेने के लिए यह बिल तो ला रही है लेकिन महिलाओं के बारे में सरकार कब सोचेगी. उन्होंने कहा कि सरकार आरक्षण को पूरी तरह खत्म करने का RSS का एजेंडा आगे बढ़ा रही है.
8:05 PM (2 वर्ष पहले)

एनसीपी बिल का समर्थन करेगी

Posted by :- Anugrah Mishra
एनसीपी सांसद प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि मुझे तो टीवी से पता चला कि सरकार संविधान में संशोधन करने जा रही है. उन्होंने कहा कि जल्दबाजी में यह फैसला लिया गया है और चुनाव के बाद इसका असर सामने आने वाला है. पटेल ने कहा कि सामाजिक न्याय के सवाल पर सबकी राय एक ही है. उन्होंने कहा कि जल्दबाजी में बिल लाने की बजाय हम सबके साथ चर्चा करके, स्टैंडिंग कमेटी में बिल को भेजते तो कुछ मुद्दों का समाधान जरूर मिल जाता. उन्होंने कहा कि जब नौकरी नहीं होगी तो आरक्षण देने का फायदा क्या होगा. पटेल ने कहा कि हमारी पार्टी बिल का समर्थन जरूर कर रही है लेकिन हमारी सुझावों पर सरकार जरूर करेगी.  
7:52 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
बीएसपी सांसद ने कहा कि अभी हाथी और साइकिल की एक साथ बैठक हुई भी नहीं है लेकिन आप इसकी वजह से ये बिल लेकर आ गए हैं और हाथी का बार-बार नाम ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार को अल्पसंख्यकों के लिए भी आरक्षण लाना चाहिए था. इस 10 फीसदी में सभी को शामिल करने से किसी का भला होने वाला नहीं है. जाट और गुर्जर के नाम पर छलावा किया जा रहा है, आप अल्पसंख्यकों को इस 10 फीसदी में शामिल नहीं कर सकते, उनके लिए अलग से लिए बिल लेकर आना चाहिए था. यह बिल सवर्ण जातियों के गरीब तबकों के साथ धोखा है जिसके जरिए आप लोगों को मूर्ख बना रहे हैं.
7:46 PM (2 वर्ष पहले)

बाउंड्री पार नहीं करेगा ये छक्का: सतीश मिश्रा

Posted by :- Anugrah Mishra
बीएसपी सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि हमारी नेता बहम मायावती सदन के भीतर उच्च जातियों के गरीबों को आरक्षण का समर्थन कर चुकीं हैं. हमारी पार्टी भी आज इस बिल का समर्थन कर रही है. मिश्रा ने कहा कि अगर आप संविधान में आर्थिक आरक्षण के लिए संशोधन ला रहे हैं तो जातिगत आरक्षण के लिए भी 50 फीसदी से ऊपर आरक्षण लेकर आइये. उन्होंने कहा कि आप क्यों, कैसे और किन परिस्थितियों में बिल ला रहे हैं, इस पर तो सवाल पूछे ही जाएंगे. सरकार ने प्रमोशन में आरक्षण के लिए क्या 4 साल में क्या किया है. मंत्री बताएं कि आबादी के हिसाब से पिछड़ों का आरक्षण कब से बढ़ा रहे हैं. मिश्रा ने कहा कि आपने आखिरी बॉल पर छक्क जरूर मारा है लेकिन वो बाउंड्री के पार नहीं जाना वाला है.
7:33 PM (2 वर्ष पहले)

मोदी सरकार ने की अगड़ों की चिंता: पासवान

Posted by :- Anugrah Mishra
लोकसभा में पासवान ने कहा कि आज जब पिछड़ी जाति का बेटा ऊंची जातियों के लिए आरक्षण की बात कर रहा है तो कांग्रेस के पेट में दर्द हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस पूरे 60 फीसदी आरक्षण को संविधान की 9वीं सूची में डाला जाए साथ ही निजी क्षेत्र में भी आरक्षण दिया जाए. उन्होंने सभी सांसदों ने मिलकर इस बिल को सदन से पारित करने की अपील की.
7:30 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
संविधान संशोधन बिल पर बोलते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि इस बिल पर कांग्रेस का स्टैंड पता नहीं चल रहा है. लोकसभा में सिर्फ तीन सदस्यों ने बिल का विरोध किया था लेकिन यहां तो कांग्रेस के सदस्य भी विरोध में बोल रहे हैं. पासवान ने कहा कि SC/ST के लिए आय की कोई सीमा नहीं है. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी को पिछड़ा और दलित विरोध कहा जाता था लेकिन उन्हीं नरेंद्र मोदी की सरकार ने एससी-एसटी एक्ट में बदलाव करके दिखाया. राम मंदिर पर हल्ला हो रहा था लेकिन प्रधानमंत्री ने सीधे कहा कि मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला ही मान्य होगा.
7:09 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
टीएमसी सांसद सुखेन्दु शेखर राय ने कहा कि संविधान में कहीं भी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग का जिक्र नहीं है. उन्होंने कहा कि आज सारा देश देख रहा है कि कैसे संविधान संशोधन बिल पास किया जा रहा है. राय ने कहा कि हमें देखना है कि कोर्ट इस बिल को कैसे लेता है.
7:02 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
कांग्रेस सांसद सिब्बल ने कहा कि सामाजिक और शैक्षणिक तौर पर पिछड़े समुदाय को आरक्षण है लेकिन अब आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग को आरक्षण दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस बिल के मुताबिक 5-10 हजार रुपये कमाने वाले दलित का परिवार कमजोर वर्ग नहीं है लेकिन 8 लाख रुपये कमाने वाला कमजोर वर्ग है. उन्होंने कहा कि यह बिल सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की पीठ के आदेश के खिलाफ है, इसलिए यह संविधान संशोधन नहीं किया जा सकता. सिब्बल ने कहा कि बिल का क्रियान्वयन कैसे किया जाएगा, इसे लेकर कई सवाल हैं जिसका जवाब मिलना अभी बाकी है.
6:41 PM (2 वर्ष पहले)

Posted by :- Anugrah Mishra
कपिल सिब्बल ने कहा कि जितनी नौकरियां पैदा नहीं हुई उससे कई ज्यादा नौकरियां चली गईं हैं. प्राइवेट और सरकारी दोनों ही क्षेत्र में नौकरियों की संख्या घटी है. देश का युवा आज नौकरी के लिए तरस रहा है और वो मौके उसे सिर्फ देश का विकास होने पर मिलेंगे. देश से निवेश लगातार जा रहा है, आप किसी मूर्ख बना रहे हैं. जनता के चेहरे पर रौनक लाने का यह रास्ता नहीं है और जबतक जनता के चेहरे पर रौनक नहीं आएगी तब तक आपके चेहरे पर भी रौनक नहीं आ सकती.