scorecardresearch
 

एंटी CAA एक्टिविस्ट की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन, UAPA हटाने की मांग

सीएए विरोध प्रदर्शनों में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के खिलाफ आज विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने 'सब याद रखा जाएगा' और 'स्क्रैप यूएपीए' के नारे लगाए.

भुवनेश्वर में हो रहा है प्रदर्शन भुवनेश्वर में हो रहा है प्रदर्शन

  • भुवनेश्वर में जगह-जगह प्रदर्शन
  • यूएपीए को हटाने की मांग

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों लोगों की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में प्रदर्शन हुआ. इस प्रदर्शन में पत्रकार, महिला और छात्र कार्यकर्ता शामिल थे. सभी ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) संशोधन विधेयक (यूएपीए) को वापस लेने की मांग की.

सीएए विरोध प्रदर्शनों में शामिल लोगों की गिरफ्तारी के खिलाफ आज विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने 'सब याद रखा जाएगा' और 'स्क्रैप यूएपीए' के नारे लगाए. इसके साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ भी नारेबाजी की गई.

भुवनेश्वर के मास्टर कैंटीन चौक पर प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता रबी दास ने कहा कि सीएए असंवैधानिक है. शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन करती है. खास तौर पर नागरिक और राजनीतिक अधिकारों पर अंतर्राष्ट्रीय करार (ICCPR) और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का.

वहीं, छात्र कार्यकर्ता संघमित्रा जेना ने कहा कि यूएपीए जैसे कानूनों का उपयोग लोकतांत्रिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ राज्य में निहित शक्तियों का स्पष्ट दुरुपयोग है. हम मानते हैं कि इस कानून को शांतिपूर्ण विरोध कर रहे लोगों को दंडित करने के लिए बनाया गया है.

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पिंजरा तोड़ के कार्यकर्ता देवांगना कलिता (30), नताशा नरवाल (32) को इस साल फरवरी में सीएए जाफराबाद विरोधी प्रदर्शन में उनकी कथित भूमिका के आरोप में गिरफ्तार किया है. प्रदर्शनकारी इस गिरफ्तारी का विरोध कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें