scorecardresearch
 

नितिन गडकरी ने माना, इकॉनोमी के लिए बुरा दौर, बोले- कभी खुशी, कभी गम

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को एक तरफ जहां मंदी से देश को निकालने के लिए बूस्टर डोज दी. वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती को बुरा वक्त बताते हुए कहा कि यह बीत जाएगा. नितिन गडकरी ने कहा कि परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मुश्किल वक्त गुजर जाएगा.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो) केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

  • नितिन गडकरी बोले- मुश्किल वक्त है गुजर जाएगा
  • गडकरी बोले- कभी खुशी होती है, कभी गम होता है

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को एक तरफ जहां मंदी से देश को निकालने के लिए बूस्टर डोज दी. वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती को बुरा वक्त बताते हुए कहा कि यह बीत जाएगा. नितिन गडकरी ने कहा कि परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मुश्किल वक्त गुजर जाएगा.

नितिन गडकरी ने कहा, मुझे पता है कि उद्योग कठिन दौर से गुजर रहे हैं. हाल ही में उन्होंने ऑटो मोबाइल निर्माताओं से मुलाकात की थी तो वह काफी निराश और चिंतित थे. गडकरी ने कहा कि कभी खुशी होती है, कभी गम होता है. कभी आप सफल होते हैं और कभी आप असफल होते हैं. यही जीवन चक्र है. नितिन गडकरी ने विदर्भ उद्योग संघ के 65वें स्थापना दिवस पर यह बात कही.

 देश की ऑटो इंडस्‍ट्री बुरे दौर से गुजर रही है. पिछले कुछ महीनों से ऑटो सेक्टर में काफी मंदी है, जिससे गाड़ियों की बिक्री में आई कमी है. ऑटो सेक्टर की मंदी से परेशान कंपनियां लगातार उत्पादन में कटौती, काम के घंटे कम करने जैसे उपाय करने में लगी हैं.

निर्मला सीतारमण ने दिए आर्थिक सुधार के संकेत

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि अर्थव्यवस्था के अधिकांश घटकों में सुधार के संकेत स्पष्ट मिलने लगे हैं. उन्होंने कहा कि पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर घटकर छह साल के निचले स्तर पर पांच प्रतिशत तक गिरने के बाद औद्योगिकी उत्पादन और स्थिर निवेश बढ़ा है. वित्तमंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था में हाल ही में रिकवरी के कुछ संकेत मिलने से दिलासा मिला है.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि ऑटो इंडस्‍ट्री को बूस्‍ट देने के लिए 31 मार्च 2020 तक खरीदे गए BS-4 वाहन को मान्य कर दिया गया. अब सरकार की ओर से टैक्‍सपेयर्स, घर खरीदार और निर्यातकों को राहत दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें