scorecardresearch
 

Newswrap: पढ़ें- रविवार सुबह की 5 बड़ी खबरें

शीला दीक्षित का एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. शनिवार दोपहर 3 बजकर 5 मिनट पर उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया और 3 बजकर 55 मिनट पर उनका निधन हो गया.

मांगे राम गर्ग और निर्मला सीतारमण (Photo- Facebook) मांगे राम गर्ग और निर्मला सीतारमण (Photo- Facebook)

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित शुरू से ही कांग्रेस पार्टी से जुड़ी थीं और अपनी आखिरी सांस तक शीला दीक्षित कांग्रेस के लिए फिक्रमंद थीं. शीला दीक्षित का आखिरी संदेश भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए ही था. वहीं, दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष, विधायक और वरिष्ठ संघ सहयोगी मांगे राम गर्ग का निधन हो गया. वो बीमार थे और उत्तरी दिल्ली के एक्शन बालाजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

1. आखिरी सांस तक शीला दीक्षित को थी कांग्रेस की फिक्र, अपने आखिरी संदेश में कही ये बात

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित अब हमारे बीच नहीं रहीं. 81 साल की उम्र में उनका निधन हो गया. लंबे समय से बीमार चल रही शीला दीक्षित का एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. लेकिन शनिवार दोपहर 3 बजकर 5 मिनट पर उन्हें दिल का दौरा पड़ा था. जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया और 3 बजकर 55 मिनट पर उनका निधन हो गया.

2. दिल्ली की राजनीति को एक और झटका, BJP के पूर्व अध्यक्ष मांगे राम का निधन

शनिवार को दिल्ली की तीन बार की मुख्यमंत्री रह चुकीं शीला दीक्षित के निधन के बाद रविवार को दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष, विधायक और वरिष्ठ संघ सहयोगी मांगे राम गर्ग का निधन हो गया. वो बीमार थे और उत्तरी दिल्ली के एक्शन बालाजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. रविवार की सुबह 7.30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली.

3. शीला दीक्षित ने ऐसे तैयार किया था दिल्ली के विकास का ब्लू प्रिंट

शीला दीक्षित 3 दिसंबर 1998 को दिल्ली के लिए नया दौर लेकर आईं. संयोग के नए झोंकों के साथ वह उस दिन दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी थीं. संयोग इसलिए क्योंकि शीला दीक्षित को उसी साल दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान मिली थी. उसी साल प्याज की कीमत में आग लगी और दिल्ली में मजबूत जड़ों वाली बीजेपी को तिनके की तरह उड़ जाना पड़ा.

4. बिहार में बाढ़ का कहर, मधुबनी में देखते ही देखते बह गई मस्जिद

बिहार की प्रमुख नदियों के जलस्तर बढ़ने के बाद कई इलाकों में आई बाढ़ का तांडव अब भी जारी है. इस बीच मधुबनी में एक मस्जिद के बाढ़ में बहने की खबर सामने आई है. मधुबनी जिले के दौलतपुर गांव में बाढ़ के पानी के कारण मिट्टी का कटाव हुआ और मस्जिद बह गई. गांव के लोगों ने अपने मोबाइल में डूबती मस्जिद का वीडियो कैद किया है.

5. फ्लोर टेस्ट से पहले कर्नाटक में आज कांग्रेस विधायकों की बैठक

कर्नाटक में जारी सियासी संकट का अंत सोमवार को हो सकता है. कांग्रेस-जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) गठबंधन की सरकार को सोमवार को सदन में बहुमत साबित करना होगा. हालांकि, इससे पहले आज बेंगलुरु में कांग्रेस के विधायकों की बैठक होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें