scorecardresearch
 

राज्यसभा में आनंद शर्मा और उपसभापति में तीखी बहस, शर्मा बोले- हमें ऐसे ट्रीट न करें

राज्यसभा में नेशनल मेडिकल कमीशन बिल पास हो गया है. यह बिल लोकसभा से पहले पास हो चुका है. इस बिल पर चर्चा के दौरान कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा की चेयर पर आसीन उपसभापति से तीखी बहस हुई.

आनंद शर्मा आनंद शर्मा

राज्यसभा में नेशनल मेडिकल कमीशन बिल पास हो गया है. इस बिल पर चर्चा के दौरान कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा की चेयर पर आसीन उपसभापति से तीखी बहस हुई. आनंद शर्मा ने कहा कि हर बार चेयर की ओर से कहा जाता है कि कुछ भी रिकॉर्ड पर नहीं जाएगा. ये क्या प्राइमरी स्कूल है. अगर कुछ रिकॉर्ड पर नहीं जाएगा तो हम यहां क्या करने आए हैं. इस पर उपसभापति हरिवंश ने कहा कि यह ठीक नहीं है, आपने गलत धारणा बनाई है, जिस पर आनंद शर्मा ने कहा कि आप हमें ऐसे नहीं ट्रीट कर सकते.

बिल से जुड़ी खबरें यहां भी पढ़ें

इस पर विपक्षी सांसदों ने भी आनंद शर्मा का पक्ष लेते हुए कहा कि अगर मंत्री सफाई देने के लिए तैयार हैं तो चेयर को क्या आपत्ति है. दोनों के बीच तीखी बहस भी देखने को मिली. नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने मेडिकल बिल पर कहा कि यूपीए की सरकार ने मेडिकल एजुकेशन के लिए काफी काम किया था और MCI एक्ट में भी सुधार किए गए थे.

उन्होंने कहा कि मुझे भी यूपीए 2 में स्वास्थ्य मंत्री बनने का मौका मिला और हमने बुनियादी ढांचे को मजबूत करने का काम किया, कॉलेजों में सीटें बढ़ाने का श्रेय इस सरकार को कतई नहीं जाता है. हमने नीतिगत फैसले लेकर सीटें बढ़ाने का काम किया जिसका नतीजा आज दिख रहा है. आपने सीट नहीं बढ़ाई बल्कि आप तो हमारे लक्ष्यों को पूरा करने में भी पीछे रह गए हैं.

सीपीएम सांसद केके रागेश ने बिल का विरोध करते हुए इसे भ्रष्टाचार को बढ़ाने वाले बिल बताया. साथ ही उन्होंने कहा कि इससे स्वास्थ्य शिक्षा का व्यवसायीकरण होगा. AAP सांसद सुशील कुमार गुप्ता ने बिल पर कहा कि सरकार बिल के जरिए कम्यूनिटी हेल्थ प्रोवाइडर के नाम पर लोगों की जान से खिलवाड़ कर रही है. एग्जिट एग्जाम के बिना प्रैक्टिस का मौका नहीं मिलेगा जो कि अन्याय है. AIADMK ने भी इस बिल का विरोध किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें