scorecardresearch
 

NCRB-2017: महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित लक्षद्वीप, सबसे खराब उत्तर प्रदेश

महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध के 56,011 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए. ये पूरे देश में हुए अपराधों का 15.6 फीसदी है. ये खुलासा हुआ है राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau-2017) की रिपोर्ट में.

महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध उत्तर प्रदेश में दर्ज हुए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर) महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध उत्तर प्रदेश में दर्ज हुए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा क्राइम उत्तर प्रदेश में
  • देश में दर्ज अपराधों में से 15.6 फीसदी सिर्फ यूपी से
देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध में करीब 6 फीसदी का इजाफा हुआ है. साल 2017 में पूरे देश में महिलाओं के खिलाफ अपराधों के 359,849 मामले दर्ज किए गए. जबकि, 2016 में ये 338,954 थे. लाख प्रयासों और सतर्कताओं के बावजूद महिलाओं के खिलाफ हिंसा या अपराध में कोई कमी नहीं आ रही है. महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध के 56,011 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए. ये पूरे देश में हुए अपराधों का 15.6 फीसदी है. ये खुलासा हुआ है राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau-2017) की रिपोर्ट में.

महिलाओं के खिलाफ सबसे असुरक्षित पांच राज्य, यहां अपराध ज्यादा

1. उत्तर प्रदेशः 56,011

2. महाराष्ट्रः 31,979

3. प. बंगालः 30,992

4. मध्यप्रदेशः 29,788

5. राजस्थानः 25,993

महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा सुरक्षित पांच राज्य, जहां अपराध कम

1. लक्षद्वीपः 6

2. दादर-नगर हवेलीः 20

3. दमन-दीवः 26

4. नगालैंडः 79

5. पुडुचेरीः 147

देवभूमि में सुरक्षित नहीं महिलाएं, जानें अपराध के चौंकाने वाले आंकड़े

महिलाओं का दुष्कर्म/गैंगरेप, फिर हत्या

1. उत्तर प्रदेशः 64

2. असमः 27

3. महाराष्ट्रः 26

4. मध्यप्रदेशः 21

5. ओडिशाः 09

दिल्ली में नहीं थम रहा अपराध, पंजाबी बाग में महिला से बैग छीनने की कोशिश

दहेज हत्या

1. उत्तर प्रदेशः 2524

2. बिहारः 1081

3. मध्यप्रदेशः 632

4. प. बंगालः 499

5. राजस्थानः 457

आत्महत्या के लिए प्रेरित करना

1. महाराष्ट्रः 951

2. मध्यप्रदेशः 707

3. आंध्र प्रदेशः 597

4. तेलंगानाः 501

5. प. बंगालः 443

दिल्ली की सबसे बुजुर्ग महिला ड्रग डीलर गिरफ्तार, ऐसा है आपराधिक रिकॉर्ड

पति या रिश्तेदारों द्वारा महिला पर क्रूरता

1. प. बंगालः 16,800

2. उत्तर प्रदेशः 12,653

3. राजस्थानः 11,508

4. असमः 9782

5. तेलंगानाः 7838

महिलाओं का अपहरण या अगवा करना

1. उत्तर प्रदेशः 14,993

2. महाराष्ट्रः 6248

3. बिहारः 6182

4. असमः 5554

5. मध्यप्रदेशः 5200

तीन साल में 70 हजार लड़कियों समेत 1 लाख से ज्यादा बच्चे लापता

जबरदस्ती शादी करने के लिए महिलाओं का अपहरण या अगवा करना

1. उत्तर प्रदेशः 12,382

2. बिहारः 4777

3. असमः 3138

4. मध्यप्रदेशः 1392

5. राजस्थानः 1341

18 साल से कम उम्र से जबरदस्ती शादी करने के लिए अपहरण/अगवा

1. उत्तर प्रदेशः 3559

2. बिहारः 2212

3. मध्यप्रदेशः 1203

4. पंजाबः 795

5. गुजरातः 701

महिलाओं की मानव तस्करी

1. महाराष्ट्रः 127

2. असमः 107

3. तेलंगानाः 77

4. प. बंगालः 71

5. आंध्र प्रदेश/मध्यप्रदेशः 42/42

कानून व्यवस्था पर योगी की मीटिंग का असर, देर रात थानों का जायजा लेने पहुंचे DGP

रेप (दुष्कर्म)

1. मध्यप्रदेशः 5562

2. उत्तर प्रदेशः 4246

3. राजस्थानः 3305

4. ओडिशाः 2070

5. केरलः 2003

18 साल से कम उम्र की लड़की से रेप

1. मध्यप्रदेशः 3066

2. उत्तर प्रदेशः 1504

3. ओडिशाः 1285

4. छत्तीसगढ़ः 1120

5. केरलः 1069

जिस्मफरोशी के लिए लड़कियों को कब्जे में लेना

1. तमिलनाडुः 266

2. महाराष्ट्रः 91

3. कर्नाटकः 66

4. आंध्र प्रदेशः 24

5. बिहारः 16

महिलाओं के खिलाफ साइबर क्राइम

1. असमः 169

2. प. बंगालः 60

3. तेलंगानाः 39

4. कर्नाटकः 34

5. महाराष्ट्रः 31

बच्चियों से दुष्कर्म (पोक्सो एक्ट)

1. महाराष्ट्रः 2385

2. उत्तर प्रदेशः 1580

3. कर्नाटकः 1305

4. गुजरातः 1233

5. प. बंगालः 1188

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें