scorecardresearch
 

थाने में बंद थे हैदराबाद के हैवान, भनक लगते ही सैकड़ों लोगों ने घेरा, पुलिस ने खदेड़ा

हैदराबाद में जिस पुलिस थाने में इस वारदात के आरोपियों को रखा गया है, उसकी भनक लोगों को लगी तो कुछ ही देर में सैकड़ों लोगों ने थाना घेर लिया. लोग थाने में घुसने की कोशिश करने लगे. पुलिस ने बमुश्किल लोगों को समझाकर वापस लौटाया.

नाराज प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को बनाया निशाना (तस्वीर-ANI) नाराज प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को बनाया निशाना (तस्वीर-ANI)

  • हैदराबाद में महिला डॉक्टर के हत्या और रेप के बाद देशभर में प्रदर्शन
  • शादनगर पुलिस स्टेशन में प्रदर्शकारियों ने पुलिस पर फेंकी चप्पलें

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद शव जलाने की वीभत्स घटना से पूरे देश में गुस्सा है. हैदराबाद में जिस पुलिस थाने में इस वारदात के आरोपियों को रखा गया है, उसकी भनक लोगों को लगी तो कुछ ही देर में सैकड़ों लोगों ने थाना घेर लिया. लोग थाने में घुसने की कोशिश करने लगे. पुलिस ने बमुश्किल लोगों को समझाकर वापस लौटाया. शादनगर कस्बे में पुलिस थाने के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे.

हैदराबाद से 50 किलोमीटर दूर इस कसबे के पुलिस थाने के सामने 'हमें न्याय चाहिए' का नारा लगाते हुए स्थानीय निवासियों ने धरना दिया, जिसमें महिलाएं और छात्र भी शामिल थे. वे आरोपियों को बिना पूछताछ और बिना सुनवाई के जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे थे.

इसी दौरान कुछ प्रदर्शकारियों ने पुलिसकर्मियों पर चप्पल फेंके जब पुलिस ने उन्हें शादनगर थाने के भीतर जाने से रोक दिया. आरोपियों को चंचलगुडा सेंट्रल जेल में शिफ्ट कर दिया गया है. कुछ प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इन जैसे अपराधियों के लिए समाज में कोई जगह नहीं है, और इन्हें एनकाउंटर में मार देना चाहिए.

प्रदर्शनकारियों का विरोध प्रदर्शन उग्र होते ही पुलिस ने सुरक्षात्मक रवैया अपनाते हुए प्रदर्शकारियों के खिलाफ लाठीचार्ज कर दिया. लाठीचार्ज के बाद स्थानीय लोग थाने के आस पास के इलाके से हट गए. पुलिस को प्रदर्शनकारियों को हटाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी.

वहीं पुलिस ने भी थाने के आसपास अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती के साथ सुरक्षा कड़ी कर दी है, ताकि आरोपियों को कोर्ट ले जाते वक्त कोई अवांछित घटना नहीं घटे. आरोपियों को आज महबूबनगर स्थित फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा और मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा.

गौरतलब है कि पशु चिकित्सक महिला की शमशाबाद स्थित आउटर रिंग रोड (ओआरआर) के टोल प्लाजा पर दो ट्रक चालकों और दो क्लीनरों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने के बाद हत्या करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है.

आरोपियों ने बाद में शव को शादनगर शहर के बाहरी इलाके में जला दिया था. अगले दिन स्थानीय लोगों ने पीड़िता की अधजली लाश देख पुलिस को सूचना दी थी. साइबराबाद पुलिस ने शुक्रवार रात चार आरोपियों की गिरफ्तारी की घोषणा की थी, जिन्होंने टोल प्लाजा के पास पार्क की हुई पीड़िता की स्कूटी को पंक्चर कर साजिशन घटना को अंजाम दिया था.

आरोपियों की पहचान ट्रक चालक मोहम्मद आरिफ, ट्रक चालक चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू, क्लीनर जोलु शिवा और जोलु नवीन के तौर पर हुई है. आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी तीनों आरोपियों की उम्र 20 साल है. इन सभी को तेलंगाना के नारायणपेट जिले से गिरफ्तार किया गया है.

महिला डॉक्टर की उम्र 27 साल थी और बुधवार को वह कोल्लुरु के पशु चिकित्सालय गई थी. शादनगर के टोल प्लाजा के पास ही डॉक्टर ने अपनी स्कूटी को पार्क की थी. रात में जब वह वापस लौटीं तो उनकी स्कूटी पंक्चर थी. इसके बाद महिला डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन किया और इसकी जानकारी दी.

(IANS और ANI इनपुट के साथ)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें