scorecardresearch
 

आर्थिक मंदी पर बोले उद्योगपति पंकज मुंजाल, 55 साल में पहली बार देखी ऐसी हालत

गिरती अर्थव्यवस्था और बदहाल बाजार को देखकर अब चारों ओर से चिंता जताई जा रही है. महिंद्रा, टाटा और मारुति जैसी कई ऑटोमोबाइल कंपनियों में काम कुछ दिनों के लिए बंद किया जा रहा है. वहीं बाजारों में भी भयंकर सुस्ती दिखाई पड़ रही है. 

उद्योगपति पंकज मुंजाल (फोटो-आजतक) उद्योगपति पंकज मुंजाल (फोटो-आजतक)

  • हीरो साइकिल के एमडी पंकज मुंजाल ने जताई चिंता

  • बाजारों में भी भयंकर सुस्ती दिखाई पड़ रही है

गिरती अर्थव्यवस्था और बदहाल बाजार को देखकर अब चारों ओर से चिंता जताई जा रही है. महिंद्रा, टाटा और मारुति जैसी कई ऑटोमोबाइल कंपनियों में काम कुछ दिनों के लिए बंद किया जा रहा है. वहीं बाजारों में भी भयंकर सुस्ती दिखाई पड़ रही है.  

उद्योग जगत से जुड़े तमाम लोग मंदी के माहौल को लेकर चिंतित हैं. लेकिन सरकार मंदी की बात को सिरे से नकार रही है. उद्योग जगत से ताजा बयान आया है हीरो साइकिल के मैनेजिंग डायरेक्टर पंकज मुंजाल का. उन्होंने अपनी नई इलेक्ट्रिक साइकिल के लॉन्च के मौके पर कहा, "मैंने अपने जीवन में ग्रोथ रेट का गिरना देखा है लेकिन ग्रोथ रेट का सिकुड़ना 55 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ."

अर्थव्यवस्था में सुस्ती के सवाल पर पंकज मुंजाल ने कहा, "यह पूछने की बात नहीं है बल्कि आंकड़े कह रहे हैं और उन आंकड़ों में गिरावट हो रही है." कई अर्थशास्त्री भी मानते हैं कि लोगों के खरीद करने की क्षमता इस मंदी के दौरान घट गई है.

इसका असर बाजार में दिखाई पड़ रहा है. हीरो साइकिल के एमडी पंकज मुंजाल का भी कहना है, "ग्रामीण और शहरी बाजार में खरीद करने की क्षमता घट गई है. लोग बचत करना चाहते हैं, शोरूम नहीं जाना चाहते. हो सकता है वह एक डर है और वह एक डेढ़ साल से हमें दिख रहा है, जिसे दूर करने की जरूरत है."

हीरो और यामहा द्वारा साझा लॉन्च किए गए नए इलेक्ट्रिक साइकिल के सवाल पर पंकज मुंजाल ने कहा कि पूरी तरह व्यवस्था में इलेक्ट्रिक व्हीकल को कल्चर में लाना होगा. इसके लिए बैटरी कार और बैटरी स्कूटर की तरह इलेक्ट्रिक साइकिल को भी फेम टू के दायरे में लाना होगा.

इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार जीएसटी में कटौती कर चुकी है. लेकिन अब इलेक्ट्रिक साइकिल को बाजार में ज्यादा जगह मिलने के लिए इलेक्ट्रिक साइकिल बनाने वाली हीरो जैसी कंपनियों की मांग है कि उसे भी इलेक्ट्रिक कार पर इलेक्ट्रिक स्कूटर की तरह सब्सिडी के दायरे में लाया जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इलेक्ट्रिक साइकिल को अपना सकें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें