scorecardresearch
 

देश के तेज विकास के लिए साइंटिस्ट विकसित करें सस्ती तकनीक: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों से सस्ती तकनीक विकसित करने का आह्वान किया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि लो कॉस्ट टेक्नोलॉजी विकसित करने की जरूरत है, जो देश की विशेष जरूरतों को पूरी करे. इससे देश के तेज विकास में सहायता मिलेगी.

आईआईएसईआर में एक कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटोः पीटीआई) आईआईएसईआर में एक कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटोः पीटीआई)

  • आईआईएसईआर के वैज्ञानिकों से की बातचीत
  • छात्रों और शोधार्थियों से भी प्रधानमंत्री ने की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों से सस्ती तकनीक विकसित करने का आह्वान किया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि लो कॉस्ट टेक्नोलॉजी विकसित करने की जरूरत है, जो देश की विशेष जरूरतों को पूरी करे. इससे देश के तेज विकास में सहायता मिलेगी.

वह भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (आईआईएसईआर), पुणे में वैज्ञानिकों से मुखातिब हो रहे थे. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पीएम मोदी के सामने आईआईएसईआर के वैज्ञानिकों ने कृषि जैव प्रौद्योगिकी से प्राकृतिक संसाधन मानचित्रण के लिए स्वच्छ ऊर्जा के उपयोग और अन्य विविध विषयों पर नए उपकरणों के उपयोग पर प्रस्तुति दी.

प्रेजेंटेशन के दौरान मॉलिक्यूलर बायोलॉजी, एंटीमाइक्रोबायल रेसिस्टेंस, क्लाइमेट स्टडीज और मैथेमेटिकल फाइनेंस रिसर्च से जुड़ी अत्याधुनिक तकनीकी का भी प्रदर्शन किया गया. प्रधानमंत्री ने प्रेजेंटेशन के बाद वैज्ञानिकों से देश के तेज विकास और विशेष जरूरतों को पूरा करने के लिए लो कॉस्ट टेक्नोलॉजी के विकास का आह्वान किया.

इससे पहले प्रधानमंत्री ने आईआईएसईआर के पुणे कैंपस पहुंचकर छात्रों और शोधार्थियों से भी मुलाकात की. वह स्टेट ऑफ द आर्ट भी पहुंचे और 797 टेराफ्लॉप की कम्प्यूटिंग क्षमता वाले सुपर कम्प्यूटर परम ब्रम्ह का भी अवलोकन किया. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री विविध कार्यक्रमों में शिरकत करने महाराष्ट्र पहुंचे थे. महाराष्ट्र में गैर बीजेपी सरकार बनने के बाद यह उनका पहला दौरा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें