scorecardresearch
 

LAC पर जारी तनाव के बीच आज लेह जाएंगे CDS जनरल बिपिन रावत, सुरक्षा का लेंगे जायजा

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत शुक्रवार को लेह जाएंगे. वह नॉर्दन आर्मी कमांड और 14 कॉर्प्स के अधिकारियों के साथ सुरक्षा स्थिति का जायजा लेंगे.

CDS जनरल बिपिन रावत (फोटो- PTI) CDS जनरल बिपिन रावत (फोटो- PTI)

  • CDS जनरल रावत सुरक्षा स्थिति का लेंगे जायजा
  • पहले रक्षा मंत्री को जाना था लेह, लेकिन दौरा टला

LAC पर जारी तनाव के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत शुक्रवार को लेह जाएंगे. वह नॉर्दन आर्मी कमांड और 14 कॉर्प्स के अधिकारियों के साथ सुरक्षा स्थिति का जायजा लेंगे. बता दें कि इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को शुक्रवार को लेह जाना था, लेकिन उनका ये दौरा टल गया. अब सीडीएस जनरल बिपिन रावत लेह का दौरा करेंगे.

राजनाथ सिंह के दौरे को लेकर रक्षा मंत्रालय का कहना है कि नई तारीख का जल्द ऐलान किया जाएगा. राजनाथ सिंह लेह जाकर चीन सीमा के हालात की समीक्षा करने वाले थे. राजनाथ सिंह पूर्वी लद्दाख में चीन से बने तनाव की स्थिति पर सुरक्षा हालातों की समीक्षा करते. राजनाथ सिंह के साथ सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी लेह जाने वाले थे.

जनरल रावत का लेह दौरा ऐसा समय हो रहा है जब LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है. तनाव को कम करने के लिए दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच में अब तक कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई ठोस नतीजा अब तक नहीं निकला है.

बातचीत के दौर के बीच ही 15 जून को गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. वहीं चीन ने अपने सैनिकों के हताहत होने का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया था.

ये भी पढ़ें- चीन को जवाब देने की तैयारी, सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली स्पेशल फोर्स लद्दाख में तैनात

भारत ने कर ली है तैयारी

वहीं, चीन से तनाव अगर और बढ़ता है तो भारत ने इसकी भी तैयारी कर ली है. भारत ने लद्दाख में स्पेशल फोर्सेज की तैनाती की है. सूत्रों के मुताबिक, देश के अलग-अलग स्थानों से पैरा स्पेशल फोर्स की यूनिट को लद्दाख में ले जाया गया है, जहां वे अभ्यास कर रहे हैं. सूत्रों ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो उनका इस्तेमाल चीन के खिलाफ भी किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें-ओली ने कुर्सी बचाने के लिए रद्द करवाया संसद सत्र, लेकिन खतरा टला नहीं

स्पेशल फोर्सेज की टुकड़ियों को पूर्वी लद्दाख में तैनात किया गया है. उन्हें उनकी भूमिकाओं के बारे में पूरी तरह से अवगत कराया गया है, जिसे चीन के साथ दुश्मनी बढ़ने पर अंजाम देना पड़ सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें