scorecardresearch
 

चार मस्जिदों के सामने रुकी हिंदुत्व ब्रिगेड की बाइक रैली, तलवार और भगवा झंडे लहराए

अराजक तत्वों ने मस्ज‍िदों के बाहर जाकर तलवार लहराए, सांप्रदायिक रूप से संवदेनशील नारे लगाए, पटाखे जलाए, रंग-गुलाल फेंके और भगवा झंडे लहराए.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली में हिंदुत्व के कुछ तथाकथि‍त झंडाबरदारों के एक बार फिर शर्मसार और हैरान कर देने वाली हरकत का एक वीडियो वायरल हुआ है. यह वाकया कुछ दिन पुराना है. पूर्वी दिल्ली के मंडावली इलाके में हनुमान जयंती के दिन एक बाइक रैली निकाली गई और रैली में शामिल अराजक तत्वों ने चार मस्जिदों के बाहर जाकर जमकर हंगामा किया. इन अराजक तत्वों ने मस्ज‍िदों के बाहर जाकर तलवार लहराए, सांप्रदायिक रूप से संवदेनशील नारे लगाए, पटाखे जलाए, रंग-गुलाल फेंके और भगवा झंडे लहराए.

'बजरंग शक्ति' नामक इस रैली का आयोजन 'अखंड भारत मोर्चा' द्वारा किया गया था. इंडियन एक्सप्रेस अखबार के अनुसार, दिल्ली के मधु विहार के प्राचीन हनुमान मंदिर से इस रैली का उद्घाटन करने वाली आनंद विहार की पार्षद और बीजेपी नेता गुंजन गुप्ता को इसमें कुछ भी शर्मनाक नहीं लगता. उन्होंने कहा कि इसमें कुछ भी 'गलत नहीं' है. भीड़ को उकसाने और तनाव बढ़ाने के लिए थाने में की गई शिकायत में गुप्ता के अलावा मंडावली की पार्षद शशि चांदना का भी नाम है.

'अनुशासित' लोगों की थी रैली! 

गुप्ता ने कहा कि इस घटना में कोई हिंसा नहीं हुई है और जिस संगठन ने यह काम किया है उसके कार्यकर्ता बहुत 'अनुशासित' हैं. यह एक धार्मिक भावना थी, जैसा कि मुहर्रम में होता है. इस रैली की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की गई थी और फेसबुक पर इसका लाइव भी किया गया.

मंडावली की फजल इलाही मस्जिद के इमाम ने मधु विहार पुलिस थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि वे इस मसले को ज्यादा तूल नहीं देना चाहते. रैली में शामिल लोगों ने मस्जिद के बाहर भगवा झंडा भी लगा दिया और दीवार पर भगवा रंग फेंका. एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक रैली स्थानीय जामा मस्जिद के सामने भी 10 से 15 मिनट के लिए रुकी. रैली सुबह 8 बजे शुरू हुई और सबसे पहले 40 साल पुराने मदनी मस्जिद के सामने जाकर रुकी. रैली मोहम्मदी मस्जिद के सामने भी 15 मिनट के लिए रुकी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें