scorecardresearch
 

CM खट्टर के खिलाफ प्रदर्शन, झड़प में महिला पुलिसकर्मियों समेत 20 घायल, DSP पर भी हमला

Clash in Hisar: हमले में पांच महिला पुलिसकर्मियों समेत करीब 20 कर्मचारी घायल हो गए. डीएसपी अभिमन्यु लोहान पर भी हमला किया गया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की 5 गाड़ियां तोड़ डाली. 

हिसार में हुई झड़प में कई पुलिसकर्मी घायल हिसार में हुई झड़प में कई पुलिसकर्मी घायल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिसार में सीएम खट्टर के खिलाफ उग्र प्रदर्शन
  • महिला पुलिसकर्मियों समेत 20 कर्मचारी घायल

हरियाणा के हिसार में उस वक्त माहौल गरमा गया, जब सीएम मनोहर लाल खट्टर रविवार को वहां कोविड अस्पतालों का उद्घाटन करने पहुंचे. सीएम खट्टर के सामने ही किसानों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. उग्र होते प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े. इस दौरान पुलिस पर भी हमला किया गया, जिसमें पांच महिला पुलिसकर्मियों सहित कुल 20 कर्मचारी घायल हो गए. 

आपको बता दें कि सीएम खट्टर हिसार में नवनिर्मित चौधरी देवीलाल संजीवनी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने पहुंचे थे. लेकिन पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई. हमले में पांच महिला पुलिसकर्मियों समेत करीब 20 कर्मचारी घायल हो गए. डीएसपी अभिमन्यु लोहान पर भी हमला किया गया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की 5 गाड़ियां तोड़ डाली. 

उपद्रवियों ने चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल के बाहर विरोध-प्रदर्शन के बहाने पुलिसकर्मियों पर जमकर हमला बोला और पथराव किया. प्रदर्शनकारियों ने जिंदल ओवर ब्रिज के नीचे डीएसपी अभिमन्यु लोहान पर भी हमला बोला. 

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि उपद्रवियों ने सबसे पहले नहर पुल पर लगे बैरिकेड को तोड़ा और बैरिकेड नहर में फेंक दिए. इसके बाद उपद्रवियों ने जिंदल ओवर ब्रिज के नीचे लगे बैरिकेड को भी तोड़ा और वहां डीएसपी अभिमन्यु लोहान के साथ जमकर हाथापाई की. इसके बाद उपद्रवी जिंदल मॉडर्न स्कूल में बने चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल परिसर में घुसने लगे और वहां लगाए गए बैरिकेड हटा दिए. 

इस जगह पर उपद्रवियों ने पुलिसकर्मियों पर ट्रैक्टर चढ़ाने की भी कोशिश की, जिसमें कुछ पुलिसकर्मियों के पैर पर भी चोट लगी है. इन उपद्रवियों ने पुलिस के पांच वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. हैरानी की बात यह है कि सीएम के द्वारा अस्पताल के लोकार्पण कार्यक्रम के समापन की सूचना देने के बाद भी इन लोगों ने अस्पताल की बाउंड्री में घुसने की कोशिश की, जहां कोरोना संक्रमितों के इलाज का काम आज ही शुरू हुआ है. दावा किया गया कि इनमें से कई उपद्रवी शराब पिए हुए थे और इनकी मंशा बड़े स्तर की हिंसा करना था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें