scorecardresearch
 

57 सीटों पर उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग का मंथन, जानें- कहां कितनी सीटें खाली

चुनाव आयोग ने गुरुवार को सात विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को टाल दिया है. वहीं, राज्यों के बाकी रिक्त 56 विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव कराए जाने को लेकर चुनाव आयोग शुक्रवार को बैठक कर चर्चा करेगा, जिसके बाद उपचुनाव की तस्वीर साफ हो सकेगी.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा

  • आठ सीटों पर चुनाव आयोग ने उपचुनाव टाल दिया
  • मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा सीटों पर होने हैं उपचुनाव

कोरोना संक्रमण की वजह से मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश सहित देश के कई राज्यों की विधानसभा सीटों पर उपचुनाव लंबित हैं. इनमें से सात विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को टाल दिया गया है जबकि बाकी रिक्त 56 विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव कराए जाने को लेकर चुनाव आयोग शुक्रवार को बैठक करेगा. इसमें चुनाव आयोग इस बात पर चर्चा करेगा कि मौजूदा माहौल में उपचुनाव कराए जा सकते हैं या नहीं.

मध्य प्रदेश में 27 सीटें रिक्त

मध्य प्रदेश में कुल 230 विधानसभा सीटों में से 27 सीटें रिक्त हैं. इनमें दो सीटें विधायकों के निधन की वजह से खाली हैं जबकि 25 सीटों के विधायकों ने इस्तीफा दिया था. मार्च में ज्योतिरादित्य सिंधिया के 22 समर्थक विधायकों ने कांग्रेस से बागवत कर विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे, जिसके चलते कमलनाथ सरकार गिर गई थी. इसके अलावा हाल ही में कांग्रेस के 3 और विधायकों ने पार्टी छोड़ते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया है. इसी वजह से उनकी सीटें भी खाली हो गई हैं. इन्हीं 27 सीटों पर उपचुनाव कराया जाना है, जिनमें से आगर विधानसभा सीट पर आयोग ने चुनाव टाल दिया है बाकी सीटों को लेकर शुक्रवार को फैसला होगा.

ये भी पढ़ें: राजस्थान के रण का ‘फाइनल’, पायलट गुट की अर्जी पर हाईकोर्ट का आज आएगा फैसला

हालांकि, पिछले दिनों भोपाल के दौरे के दौरान कोरोना महामारी के चलते देशभर में विधानसभा चुनाव और उपचुनाव टलने की आशंकाओं को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सिरे से खारिज किया था. उन्होंने साफ कहा था कि ऐसी परिस्थितियों में भी चुनाव समय से होंगे. यदि कोरोना संक्रमण की स्थिति बिगड़ती है तो संबंधित एक-दो सीट को लेकर कोई फैसला लिया जा सकता है. इसका मतलब साफ है कि आगर सीट को छोड़कर बाकी सीटों के लिए चुनाव आयोग कोई निर्णय शुक्रवार को ले सकता है.

गुजरात में आठ सीटें

गुजरात में राज्‍यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के 8 विधायकों ने पार्टी से इस्‍तीफा देकर बीजेपी का दामन थाम लिया था. इसी के चलते अबडासा, मोरबी, धारी, लींबडी, गढडा, कपराडा, करजण और डांग विधानसभा सीट खाली है. चुनाव आयोग इन्हीं 8 सीटों पर उपचुनाव को लेकर चर्चा करेगा. कांग्रेस और बीजेपी दोनों राजनीतिक दलों ने इस सीटों पर उपचुनाव को लेकर अपनी-अपनी तैयारियां भी शुरू कर दी हैं.

ये भी पढ़ें: गहलोत के बाद कमलनाथ ने PM को लिखा खत, कहा- MP की निर्वाचित सरकार गिराना घृणित

झारखंड में दो सीटें रिक्त

झारखंड में दो विधानसभा सीटें दुमका और बेरमो खाली हैं, जहां पर उपचुनाव कराए जाने हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पिछले साल विधानसभा चुनाव में बरहेट और दुमका से चुनाव लड़े थे और दोनों जगहों से जीत हासिल की थी. लेकिन बाद हेमंत सोरेन ने दुमका सीट को छोड़ दिया था. इसके अलावा बेरमो सीट कांग्रेस के विधायक राजेंद्र सिंह के निधन हो जाने के कारण खाली हो गई है. ऐसे में चुनाव आयोग इन दोनों सीटों पर उपचुनाव को लेकर कोई फैसला ले सकता है.

हरियाणा-छत्तीसगढ़ की एक-एक सीट

हरियाणा की सोनीपत जिले के बरोदा विधानसभा सीट खाली है. यह सीट कांग्रेस पार्टी के विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा के निधन होने चलते रिक्त हुई है. ऐसे ही छत्तीसगढ़ की मरवाही सीट भी खाली है, जो जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के विधायक व पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से खाली हुई है. ऐसे में चुनाव आयोग इन दोनों सीटों पर उपचुनाव के लिए कोई निर्णय ले सकता है.

उत्तर प्रदेश में चार सीटें खाली

उत्तर प्रदेश में चार विधानसभा सीटें खाली है, इनमें टुण्डला, बांगरमऊ, रामपुर की स्वार और बुलंदशहर सीट शामिल है. हालांकि, चुनाव आयोग ने टुण्डला और बुलंदशहर सीट पर उपचुनाव को टाल दिया है. बाकी दो सीटों पर चुनाव कराने को लेकर कोई फैसला कर सकता है.

अन्य राज्यों में रिक्त सीटें

पश्चिम बंगाल में चार विधानसभा सीटें खाली हैं. ओडिशा में दो विधानसभा सीटें रिक्त हैं. मणिपुर में 11 विधानसभा सीटें काफी समय से खाली है, यहां कांग्रेस विधायकों ने पार्टी छोड़कर बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी. इसके अलावा पुडुचेरी की भी एक सीट रिक्त है. हालांकि, कर्नाटक की भी दो सीटें खाली है, लेकिन मामला कोर्ट में होने के चलते अभी तक उपचुनाव नहीं कराए जा सके हैं. वहीं, बाकी राज्यों की रिक्त सीटों पर उपचुनाव के लिए निर्वाचन आयोग शुक्रवार को कई फैसला ले सकता है.

8 सीटों पर चुनाव टाल दिए गए

देश में कोरोना महामारी और बाढ़ की स्थिति को देखते हुए चुनाव आयोग ने गुरुवार को इस साल 7 सितंबर तक होने वाले 8 निर्वाचन क्षेत्रों (1 लोकसभा और 7 विधानसभा) के उपचुनाव टाल दिए हैं. यह सीटें बिहार (वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट), असम (सिबसागर विधानसभा सीट), तमिलनाडु (तिरुवोट्टियूर और गुडियट्टम विधानसभा सीट), मध्य प्रदेश (आगर विधानसभा सीट), उत्तर प्रदेश (बुलंदशहर और टूंडला विधानसभा सीट) और केरल (चावरा विधानसभा सीट) हैं. हालांकि, इन सीटों पर स्थिति सामान्य होने पर उपचुनावों की नई तारीखों पर चुनाव आयोग चर्चा करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें