scorecardresearch
 

केंद्र सरकार का फैसला, क्रिप्टो करेंसी भारत में होगी बैन

क्रिप्टो करेंसी पर उनके मूल्यों की अनिश्चितता के चलते मंत्रियों की एक समिति ने क्रिप्टो करेंसी पर भारत में बैन लगाने की मंजूरी दी है. साथ ही समिति ने क्रिप्टो करेंसी के लेनदेन से संबंधित किसी भी गतिविधि में शामिल होने पर दंड की भी व्यवस्था को मंजूरी दी है.

X
क्रिप्टो करेंसी (फाइल फोटो) क्रिप्टो करेंसी (फाइल फोटो)

क्रिप्टो करेंसी पर उनके मूल्यों की अनिश्चितता के चलते मंत्रियों की एक समिति ने क्रिप्टो करेंसी पर भारत में बैन लगाने की मंजूरी दी है. साथ ही समिति ने क्रिप्टो करेंसी के लेनदेन से संबंधित किसी भी गतिविधि में शामिल होने पर दंड की भी व्यवस्था को मंजूरी दी है.

पिछले महीने रिपोर्ट आई थी कि क्रिप्टो करेंसी पर प्रतिबंध और आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2019 के मसौदे के प्रस्ताव के मुताबिक देश में क्रिप्टो करेंसी की खरीद-बिक्री करने वालों को 10 साल की जेल की सजा मिलेगी.

गौरतलब है कि क्रिप्टो करेंसी एक ऐसी मुद्रा है जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर बनी होती है. यह एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसका कोई मालिक नहीं होता. यह करेंसी किसी भी एक अथॉरिटी के काबू में भी नहीं होती.

अमूमन रुपया, डॉलर, यूरो या अन्य मुद्राओं की तरह ही इस मुद्रा का संचालन किसी राज्य, देश, संस्था या सरकार द्वारा नहीं किया जाता. यह एक डिजिटल करेंसी होती है जिसके लिए क्रिप्टोग्राफी का प्रयोग किया जाता है. आमतौर पर इसका प्रयोग किसी सामान की खरीदारी या कोई सर्विस खरीदने के लिए किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें