scorecardresearch
 

ICICI बैंक की पूर्व चीफ चंदा कोचर पर बनी बायोपिक के प्रदर्शन पर लगी रोक

चंदा कोचर पर बनी बयोपिक का नाम चंदा: ए सिग्नेचर दैट रुइंड ए करियर है. यह बायोपिक उनके जीवन की घटनाओं पर आधारित है, जिसमें वो केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रही हैं. 

ICICI बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर (फाइल फोटो- Aajtak) ICICI बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर (फाइल फोटो- Aajtak)

  • ICICI बैंक की पूर्व चीफ चंदा कोचर पर बनी बायोपिक पर रोक
  • बयोपिक का नाम 'चंदा: ए सिग्नेचर दैट रुइंड ए करियर'
  • चंदा कोचर ने आवेदन के जरिए जताई थी आपत्ति

दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर बनी फिल्म पर रोक लगा दी. फिल्म पर रोक लगाने के लिए चंदा कोचर की ओर से वकील विजय अग्रवाल और नमन जोशी ने आवेदन दिया था. बताया जा रहा है कि यह फिल्म कथित तौर पर उनके जीवन पर आधारित है.  

चंदा कोचर पर बनी बयोपिक का नाम चंदा: ए सिग्नेचर दैट रुइंड ए करियर है. यह बायोपिक उनके जीवन की घटनाओं पर आधारित है, जिसमें वो केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रही हैं.  

वकील विजय अग्रवार के मुताबिक, 20 नवंबर  2019 को चंदा कोचर को पता चला कि उन पर एक बायोपिक बनी है जो उनके जीवन और उनके जीवन की घटनाओं पर आधारित है, जिसका नाम चंदा: ए सिग्नेचर दैट रुइंड ए करियर' रखा गया है.

'प्रोडक्शन हाउस से नहीं किया संपर्क'

वकील अग्रवाल ने बताया कि चंदा कोचर ने कभी संबंधित प्रोडक्शन हाउस से संपर्क नहीं किया था कि उनके जीवन पर कोई फिल्म बनाई जाए. वकील ने यह आरोप लगाया है कि चंदा कोचर की भूमिका निभाने वाली अभिनेत्री इस बारे में खुलकर बोल रही हैं कि फिल्म चंदा कोचर की कथित गलती के बारे में है जिससे कैसे उनका जीवन बर्बाद कर दिया.  

फिल्म टाइटल पर कड़ी आपत्ति

चंदा कोचर के आवेदन के अनुसार, उनकी भूमिका निभा रही अभिनेत्री ने एक साक्षात्कार में यह बताया कि उन्होंने चंदा कोचर के चलने, बात करने, हाव-भाव आदि की शैली को चित्रित किया है. आवेदन के जरिए चंदा कोचर ने फिल्म टाइटल पर कड़ी आपत्ति जताई. इसके अलावा उन्होंने इस पर आपत्ति जताई है कि एक दोषी के रूप में उन्हें दिखाया जा रहा है. हालांकि, मुकदमा लंबित है.

वकील अग्रवाल ने कहा कि इस तरह के कथित बयोपिक और प्रोमोशनल इंटरव्यू और प्रचार जांच के साथ मुकदमे के लिए पूर्वाग्रह है.

वादी के नाम का उपयोग करने पर रोक

अदालत ने कहा कि सुनवाई की अगली तारीख तक सभी प्रतिवादी और उनके सहयोगियों को इस आदेश के द्वारा सीधे या परोक्ष रूप से वादी के नाम का उपयोग करने से रोका जा रहा है. इस आदेश के तहत फिल्म की स्क्रीनिंग, प्रदर्शन या मार्केटिंग, ऑनलाइन या ऑफलाइन, पूरे या आंशिक रूप से या किसी अन्य रूप में प्रदर्शन करने से भी रोका जा रहा है.

बता दें कि अभिनेत्री गुरलीन चोपड़ा बायोपिक में चंदा कोचर की भूमिका निभा रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें